Breaking News:

पहले लड़कियों को “पवित्र स्नान” करवाता था चर्च का पादरी फिर करता था बलात्कार


मिशेल ओलुरोनबी चर्च का पादरी थी जो लोगों को ईसा मसीह के बताये रास्ते पर चलने की प्रेरणा देता था. लोग भी उसका बहुत सम्मान करते थे लेकिन लोगों को पता नहीं था कि जिस पादरी को वह यीशु का दूत समझकर सम्मान कर रहे हैं, दरअसल वो पादरी के वेश में हैवान है तथा जो चर्च में आने वाली लड़कियों यहां तक कि मासूम बच्चियों तक के साथ दुष्कर्म करता है. सबसे बड़ी बात ये थी कि पादरी पहले लडकियों को स्नान कराता था जिसे वह “पवित्र स्नान” बोलता था.

पवित्र स्नान कराने के बाद वह लड़कियों से दुष्कर्म करता था. इसमें पादरी की बीवी की भी उसका साथ देती थी. कोर्ट ने मिशेल की पत्नी जुलिआना को भी रेप में मदद की 3 घटनाओं को लेकर दोषी करार दिया. जुलिआना ने पीड़ितों को अबॉर्शन कराने में मदद की थी. मामला ब्रिटेन का जहाँ की बर्मिंघम क्राउन कोर्ट ने बलात्कारी पादरी मिशेल ओलुरोनबी को दोषी करार दिया है. कोर्ट ने मिशेल ओलुरोनबी नामक पादरी को रेप की 15 घटनाओं और हिंसा की 9 घटनाओं के लिए दोषी ठहराया है.

मीडिया सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक़, पादरी मिशेल रेप से पहले लड़कियों को ‘पवित्र स्नान’ करने के लिए कहता था. वह लड़कियों को बुरी शक्तियों से आजाद करने की बात भी कहा करता था. मिशेल के रेप करने की वजह से कम से कम 4 लड़कियां प्रेग्नेंट हो गई थीं. खबर के मुताबिक़, बलात्कारी पादरी मिशेल को सजा बाद में सुनाई जाएगी. बताया गया है कि मिशेल ने धर्म के नाम पर लोगों का एक समूह बनाया था और समूह में आने वाली लड़कियों के साथ यौन शोषण करता था.

मिशेल ने यौन शोषण के बाद कई लड़कियों का जबरन अबॉर्शन करा दिया. पुलिस ने मिशेल का एक वीडियो जारी किया है जिसमें वह अपना अपराध स्वीकारता दिख रहा है. 60 साल के मिशेल ने वीडियो में कहा था- ‘मैं इंसान नहीं रह गया था. मैं एक जानवर बन गया था. बुरी शक्तियों ने मुझे हमलावर बनाया.’ कोर्ट इस मामले में बाद में सजा सुनाएगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share