Breaking News:

“दूध से ज्यादा फायदेमंद बियर पीना बता दिया”.. किसी शराबी या बेवडे ने नहीं, बल्कि उस संस्था ने जिसको वामपंथी वर्ग द्वारा माना जाता रहा है सम्मानित


ये वो संस्था है जिसको बाकयदा जान बूझ कर खूब प्रचारित और प्रसारित किया गया था भारत के तमाम कोनो में और इनके विदेशी होने के चलते इनको VIP संस्थाए समझ कर भारत वालों के दिमाग में खूब कूट कूट कर भरने का प्रयास किया गया था. यद्दपि इनका एक भी प्रयास गिनाने के लिए शायद उपलब्ध न हो जिसमे भारत या भारतीयता की भलाई का कहीं से कोई संकेत मिलता हो. इस से पहले ये संस्था गौ माता और उनके घी पर टिप्पणी कर चुकी है.

यद्दपि अब सतर्क भारत ऐसी संस्थाओ को और उनकी सोच को बेहतर ढंग से पहिचान गया है लेकिन उनकी तरफ से लगातार प्रयास किया जा रहा है किसी भी रूप में भारतीयों को उनके असल मूल्यों से गुमराह करने का. अब एक बार फिर से एक नया बयान दिया गया है जिसमे उसी संस्था द्वारा दूध से बेहतर स्वास्थ्यवर्धक विकल्प बियर को बता दिया गया है. इस संस्था का नाम है PETA जो कि पशुओं के लिए कार्य करने वाली बताई जाती थी लेकिन अब ऐसे लग रहा है जैसे ये बियर कम्पनियों के लिए काम करती हो.

PETA ने दावा किया है कि बियर को एक एल्कोहल बेवरेज माना जाता है। इसे बनाने में जिन चीजों का इस्तेमाल किया जाता है उसमें कई पोषक तत्व पाए जाते हैं। बियर इंसान के हड्डियों को भी मजबूत बनाने का काम करती है। शरीर की मांसपेशियों के विकास के लिए भी इसे काफी फायदेमंद बताया जाता है . आश्चर्यजनक रूप से इसी में PETA ने आगे कहा कि दूध मोटापा, डायबिटीज और कैंसर जैसी घातक बीमारियों का कारण भी बनता है


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share