CAA के नाम पर सिर्फ पुलिस पर पत्थरबाजी ही नहीं... हो रही है और भी भयानक तैयारी ? केरल में मिला ये सामान उसी का इशारा तो नही ? - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

CAA के नाम पर सिर्फ पुलिस पर पत्थरबाजी ही नहीं… हो रही है और भी भयानक तैयारी ? केरल में मिला ये सामान उसी का इशारा तो नही ?


CAA और NRC का नाम ले कर जिस प्रकार से देश भर के तमाम कोनो को हिंसा की आग में झोंका जा रहा है और आतंकवाद का फिलिस्तीनी मॉडल अपनाया जा रहा है, उसके बाद इतना तो देश और सभ्या समाज समझ ही चुका है कि इन दंगाइयो के इरादे नेक नहीं हैं . फ़िलहाल देश की पुलिस के जवान अपनी पूरी ताकत से इन दंगाइयो को काबू कर रहे हैं और जनता के नुकसान की सभी सम्भावनाओं को खारिज कर रहे.

ऐसे में देश के विरोध की अपनी तमाम साजिशो को नाकाम होते देख कर किया अब उन्मादी और आतंकी नये नये हथकंडे अपनाने लगे है ? ये बड़ा सवाल खड़ा हो रहा है. केरल की एक घटना ने सबका ध्यान फिर से अपनी तरफ खींच लिया है जिसमे पुलिस ने पोलीथिन में बंधे हुए कई कारतूस बरामद किये हैं जो पाकिस्तान में बने हुए हैं. पाकिस्तानी कारतूसो के बरामद होते ही सुरक्षा एजेंसियां और ख़ुफ़िया एजेंसिया सतर्क हो उठी हैं.

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

केरल वो स्थान है जहाँ हिन्दू इस्लामिक आतंकवाद और वामपंथी चरमपंथ दोनों से घाव खा रहा है. यहाँ पर PFI के ऊपर कई हिन्दुओं की हत्या का आरोप है और ये इलाका PFI का गढ़ माना जाता है. कुथालुपुझा में पाकिस्तान निर्मित 14 गोलियां मिलने के मामले की जांच में एनआईए की मदद के लिए सैन्य खुफिया विभाग की टीम केरल पहुंची। ये गोलियां यहां से 70 किलोमीटर की दूरी पर स्थित तमिलनाडु के जंगलों की सीमा पर स्थित कुथालुपुझा में मिली थीं। गोलियां एक प्लास्टिक बैग में बंद थीं और कोलम के मलयाली अखबार में लिपटी हुई थीं। अब सवाल ये है कि ये मौत का सामान किस के लिए था ?


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share