Breaking News:

बेटी की हत्या पर दहाड़े मार कर रो रहे थे उसके अब्बा और भाई और मांग रहे थे कातिलों को फांसी.. लेकिन सच उस कत्ल से भी ज्यादा भयानक था

बड़ा हृदय विराद्क दृश्य था वो जब एक लड़की की लाश पर उसके भाई , बहन और अब्बा दहाड़े मार मार कर रो रहे हों और उनके साथ कुछ सेकुलर छवि के लोग भी बैठे हों और हत्यारों को फांसी की मांग कर रहे हो .. एक जवान लड़की की लाश थी वो जिसकी बेरहमी से हत्या की गयी थी .. हर तरफ एक ही आवाज थी और वो थी कि कातिलों को कड़ी से कड़ी सजा मिले ..

न्याय के पथ में हर दिन अटकाए जा रहे रोड़े.. हिन्दुओं का दमन हो इसके लिए हर दिन नए बयान और पुलिस को दबाव में लेने की कोशिश

इसके चलते ही पुलिस पर भी भारी दबाव था और वो दिन रात एक कर के असल कातिलों तक पहुचने की कोशिश कर रही थी ..लेकिन पुलिस की ये तलाश जहाँ जा कर खत्म हुई वो किसी ने सोचा भी नहीं था . क्या गुजरी होगी उस पूरे मामले में न्याय मांग रहे लोगों पर जब ये पता चला होगा कि लड़की को किसी बाहरी ने नहीं बल्कि खुद उसके भाई और अब्बा ने दी थी एक बेरहम मौत . आजम खान के दबदबे वाले क्षेत्र रामपुर की है ये सनसनीखेज घटना ..

“भारतमाता की जय” के उद्घोष के साथ गरज उठी भारतीय सेना की बंदूकें… 10 पाकिस्तानी सैनिक भेजे जहन्नुम

विदित हो कि ये मामला है उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले का .. यहाँ पर गंज थानाक्षेत्र में 22 साल की लड़की मोबिन जहां की गला घोंट कर हत्या हुई थी जिसमे मृतका की बहन की तहरीर पर अज्ञात लोगों पर हत्या का केस दर्ज हुआ था . इस मामले की जांच थानाध्यक्ष नरेन्द्र कुमार जी कर रहे थे जिनकी जांच आखिरकार मृतका के भाई और उसके अब्बा पर जा कर खत्म हुई . अब्बा का नाम शफीक अहमद था और भाई का नाम गुड्डू था .

अदालत ने पूछा था कि- “जनता का पैसा मूर्तियों पर क्यों खर्च किया” ? तो ये रहा मायावती का जवाब

जांच के बाद पता चला कि लड़की मोबिन जहाँ के भाई गुड्डू और अब्बा शफीक अहमद अपनी बेटी के मोबाईल पर लगातार बात करते रहने से काफी शंका किया करते थे . इसके अलावा उसके ऊपर तमाम तरह की पाबंदियां भी लगा दी गयी थी. बाद में जब उन दोनों को पता चला कि उनकी बेटी का गाँव के ही एक युवक के साथ अफेयर है तो वो सह नहीं पाए . उसके अब्बा और उसके बेटे ने मिल पर प्लान बयान और मोबिन को गला घोंट कर मार डाला .. फिलहाल पुलिस ने इस घटना का सफल अनावरण किया है जिस से कोई निर्दोष जेल या कानूनी कार्यवाही का कोपभाजन बनने से बच गया ..

कांग्रेस ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र.. न्याय योजना के साथ किये अन्य बड़े वादे

Share This Post