Breaking News:

सेना को खुली चुनौती पहली बार.. भारत के सैनिकों को देख लेने की धमकी

भारतीय सेना..वो भारतीय सेना जो अपनी जान पर भारत की, भारत के नागरिकों की सुरक्षा करती है.. वो भारतीय सेना जो हँसते-हँसते दुश्मन की बंदूकों से निकली गोलियों को अपने सीने पर झेलती है लेकिन देश के, देशवासियों को स्वाभिमान को कभी झुकने नहीं देती.. आज उसी भारतीय सेना को खुली चुनौती मिली है तथा ये चुनौती दी है देश की उस कथित सेक्यूलर राजनीति ने, जिसकी सुरक्षा खुद सेना के ही जवान करते हैं.

इस्लामिक आतंकियों के खिलाफ सबसे क्रूर साबित हो रहे इजरायली प्रधानमंत्री नेतन्याहू फिर खड़े थे चुनाव में.. जानिये किसे चुना इजरायल की जनता ने ?

जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) की अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने बुधवार को लोगों से जम्मू-कश्मीर में राजमार्ग पर लगाए प्रतिबंध को ना मानने को कहा और कश्मीर में फिलिस्तीन जैसी स्थिति के लिए भारत को चेतावनी दी. महबूबा मुफ्ती ने कहा ‘यह कश्मीरियों और उनकी अर्थव्यवस्था तबाह करने के लिए आदेश है. लोगों को आदेश ना मानते हुए राजमार्ग पर अपने वाहन चलाने चाहिए. हम देखेंगे कि कौन उनके खिलाफ कार्रवाई करता है,’ म्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने भी गुरुवार को राजमार्ग बंद करने के आदेश के खिलाफ विरोध मार्च निकाला. उमर ने कहा, ‘हम फिर आज यह मांग करते है की इस तुगलकी फरमान को वापिस लिया जाए.

सत्य साबित हो रहे सावरकर.. नामांकन से पहले सोनिया गांधी ने की हिन्दू मंदिर में पूजा जबकि कांग्रेस ने कभी हिन्दुओं को बताया था आतंकी

ये है हिंदुस्तान की कथित सेक्यूलर राजनीति का स्तर जो उसी सेना की हिफाजत के लिए किये गये इंतजामों के खिलाफ खड़ी हो जाती है जो अपनी जान पर खेलकर हिन्दुस्तान की संप्रुभता तथा हिंदुस्तान के नागरिकों की सुरक्षा करते हैं.  ये बेहद अफ़सोस तथा शर्म की बात है कि देश के सैनिकों की हिफाज़त के लिए की गई एक नई व्यवस्था के विरोध में वो राजनेता सेना को देख लेने की चुनौती देते हैं जो खुद इन्हीं सैनिकों के सुरक्षा घेरे में रहते हैं.

मुजफ्फरनगर से बड़ी खबर.. बुर्के की आड़ में कराई जा रही फर्जी वोटिंग

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले और हाल ही में जवाहर सुरंग के पास कार विस्‍फोट को देखते हुए प्रशासन ने बड़ा फैसला लिया है. प्रशासन ने बारामूला से उधमपुर तक के राष्ट्रीय राजमार्ग पर 31 मई तक हर हफ्ते रविवार और बुधवार को नागरिक यातायात को बंद करने का ऐलान किया है. सरकारी अधिसूचना में बुधवार को कहा गया है कि बारामूला से उधमपुर तक के राष्ट्रीय राजमार्ग पर 31 मई तक हर हफ्ते रविवार और बुधवार को नागरिक यातायात को बंद कर दिया जाएगा.

जमात-ए-इस्लामी के बाद सुन्नी उलेमा बोले- “मुसलमानो! हिन्दू पार्टी को नहीं बल्कि अपनी कौम के हक़ में वोट करो”

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

 

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW