Breaking News:

पत्नी की लाश ठिकाने गए समाजवादी नेता की लाश अब तलाशी जा रही.. ऐसा क्या हुआ अखिलेश के उस करीबी के साथ ?


समाजवादी पार्टी के नेता जी अपनी पत्नी की ह्त्या कर लाश को ठिकाने के लिए ले गए थे. लेकिन इसी दौरान कुछ ऐसा हुआ कि अब उनकी लाश तलाशी जा रही है. घटना उत्तर प्रदेश के चित्रकूट की है जहाँ सपा नेता भरत दिवाकर रहस्यमय ढंग लापता हो गए थे. बुधवार सुबह पुलिस ने कपड़े, जूते और उनकी कार को बांध के पास से बरामद कर लिया. पुलिस मामले को अपहरण मानकर जांच कर रही थी, लेकिन बाद में जब नाविक ने घटना का राज खोला तो सबके पांव तले जमीन खिसक गई.

पुलिस को पता चला है कि सपा नेता पत्नी की हत्या के बाद शव को बांध में फेंकने आए थे. बीच धारा में जाते समय नाव पलटने से उसकी डूबकर मौत हो गई. अब पुलिस टीमें गोताखोरों की मदद से बरुआ बांध में उनकी तलाश कर रही हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, चित्रकूट के दहिनी चौकी शिवरामपुर निवासी कर्वी सदर की पूर्व ब्लॉक प्रमुख दसोदिया देवी के पौत्र सपा नेता भरत दिवाकर ठेकेदारी करते हैं. भरत दिवाकर नई बस्ती में मकान बनवा कर परिवार समेत रहते थे. मंगलवार को वह रहस्यमय ढंग से भरतकूप चौकी अंतर्गत बरुआ बांध के पास से लापता हो गए थे.

बुधवार सुबह पुलिस ने कपड़े, जूते और उनकी कार बांध के पास से बरामद की. कार में पत्नी की चप्पल भी मिलीं थी. बता दें कि सपा नेता के पास बरुआ बांध में मत्स्य आखेट का ठेका भी था. पुलिस ने खोजबीन शुरू की तो बांध के पास मछरिया गांव निवासी नाविक रामसेवक को सुबह उनके साथ देखे जाने की जानकारी हुई. पुलिस ने रामसेवक से कड़ाई से पूछताछ की तो उसने राज उगल दिया. रामसेवक ने पुलिस को बताया कि सपा नेता ठेकेदार पत्नी मीनू की हत्या के बाद शव बांध में फेंकने के लिए आए थे और उसकी नाव किराए पर ली थी. बीच धारा में पहुंचने पर नाव पलट गई, जिसमें उनकी डूबकर मौत हो गई.

नाविक ने ने बताया कि वह किसी तरह तैर कर बाहर निकल आया. इस बात की जानकारी होते ही पुलिस और परिजनों के होश उड़ गए. कोतवाल एके सिंह ने बताया कि पत्नी की हत्या कर शव फेंकते समय बांध में डूब कर सपा नेता की मौत होने की जानकारी नाविक ने दी है. बांध में छह नाव और एक दर्जन गोताखोरों को लगाकर तलाश कराई जा रही है. परिजनों ने पुलिस को बताया कि ठेकेदार ने पहले ही पत्नी की हत्या कर शव फेंकने की योजना बना ली थी. इसीलिए बेटी को ननिहाल भेज दिया था. फिलहाल शव की तलाशी की जा रही है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share