दोस्तों के साथ मिलकर अपनी बीवी के साथ ही गैंगरेप करवाया शौहर उमर ने.. फिर काट कर फेंक दी जीभ


उत्तर प्रदेश के मेरठ से दिल दहला देने वाला एक बेहद ही भयावह व शर्मनाक मामला सामने आया है जहाँ शौहर उमर ने अपने दोस्तों के साथ मिलकर अपनी ही बीवी के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया. इसके बाद उसने बीवी की जीभ भी काटकर फेंक दी. मामला मेरठ के जानी थाना क्षेत्र से जुड़ा है. जिले की कोतवाली क्षेत्र के रहने वाले एक व्यक्ति की पुत्री की शादी उमर नाम के युवक से हुई थी. परिजनों ने बताया कि उमर अक्सर उनकी पुत्री को प्रताड़ित करता था, जिसके चलते वह अपने मायके में रह रही थी.

पीडिता के परिजनों के मुताबिक़, लगभग डेढ़ महीना पहले उमर उनकी पुत्री को कलियर शरीफ घुमाने के बहाने मायके से ले गया. इसके बाद जानी के हाईवे पर जंगल में उमर और उसके कुछ साथियों ने युवती के साथ गैंगरेप किया. हैवान यहीं नहीं रुके बल्कि घटना को अंजाम देने के बाद युवती के हाथ-पैर और जुबान काट डाली और उसे मरा हुआ समझकर हाईवे पर फेंक कर चले गए. पुलिस ने मरणासन्न युवती को अस्पताल में भर्ती कराया. युवती की जान तो बच गई, लेकिन वह बोलने से लाचार हो गई.

इस मामले में युवती के परिजनों ने पुलिस की भूमिका पर भी सवाल खड़े किये हैं तथा दरोगा पर सनसनीखेज आरोप लगाये हैं. सोमवार को एसएसपी कार्यालय पहुंचे युवती के परिजनों ने बताया कि पुलिस ने इस मामले में पीड़िता के पति उमर और उसके दोस्त पप्पू को तो जेल भेज दिया, लेकिन अन्य तीन आरोपियों को सेटिंग करके गिरफ्तार नहीं कर रही है. इतना ही नहीं अब तक युवती के बयान भी नहीं कराए गए हैं

पीडिता के परिजनों ने एसएसपी कार्यालय में आरोप लगाया कि वह पीड़िता के बयान दर्ज कराने के लिए कहते हैं तो केस की जांच कर रहा दरोगा कहता है कि उसने युवती को बचाकर गलती की. पीड़ितों के आरोप सुनकर एसएसपी ने आरोपी दरोगा को अपने कार्यालय में तलब करके कड़ी फटकार लगाई, जिसके बाद दरोगा ने युवती द्वारा लिखित में दिए गए बयानों को मान्य बताते हुए जल्द ही अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी का दावा किया है. युवती ने एसएसपी से न्याय की मांग की है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share