सब इंस्पेक्टर ओमप्रकाश को गोली मार कर भाग रहे गौतस्कर इरशाद को घेर लिया UP पुलिस ने.. और ये उसकी आख़िरी दौड़ साबित हुई

गोतस्कर इरशाद ने सब इंस्पेक्टर ओमप्रकाश को गोली मारी तथा भागने लगा. लेकिन शायद वह भूल गया था कि सब इंस्पेक्टर ओमप्रकाश उस यूपी पुलिस का जांबाज जवान है, जिसके नाम से ही बड़े बड़े अपराधियों के होश फाख्ता हो जाते हैं. सब इंस्पेक्टर को गोली मारने के बाद जब तक इरशाद भाग पाता, उससे पहले ही योगी की पुलिस की बंदूकों से निकली गोली इरशाद को जा लगी तथा वह वहीं ढेर हो गया तथा उसकी ये दौड़ जीवन की आखिरी दौड़ साबित हुई.

मामला उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले का है जहाँ मंगलवार देर रात सरधना व सरूरपुर पुलिस की गौ तस्करों के साथ हुई मुठभेड़ में एक बदमाश की गोली लगने से अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई. वहीं उसके साथी मौके से फरार हो गए. एसपी देहात राजेश कुमार के अनुसार सरधना पुलिस सवेरे चार बजे गश्त कर रही थी इसी दौरान एक पिकअप गाड़ी में गौ तस्कर होने के संदेह पर जांच के लिए गाड़ी को रोकने का इशारा किया. बदमाशों ने गाड़ी नहीं रोकी और पुलिस की गाड़ी पर पत्थरों से हमला कर हर्रा रोड की तरफ भागने लगे. जिस पर सरूरपुर पुलिस को सूचना दी गई.

इसके बाद पुलिस ने बदमाशों को चारों ओर से घेर लिया। इसके बाद बदमाशों ने गोली चला दी जो दरोगा ओमप्रकाश को लगी. जवाबी कार्रवाई के दौरान पुलिस की गोली इरशाद को लगी और वह जमीन पर गिर पड़ा. इसी दौरान मौका पाकर उसके अन्य साथी फरार हो गए. घायल बदमाश को आनन-फानन में कंकरखेड़ा के एक अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. थाना इंचार्ज प्रशांत कपिल ने बताया कि मौके से दो तमंचे बरामद हुए हैं. उन्होंने बताया कि मृतक बदमाश की पहिचान इरशाद के रूप में हुई है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW