वो कौन सा मेजर है जो पहुंचाया था मस्जिद में बारूद.. खुल रहा एक नया राज


उत्तर प्रदेश के कुशीनगर की मस्जिद में हुए विस्फोट की जांच जैसे जैसे बढ़ती जा रही है, वैसे वैसे नए नए तथ्य सामने आते जा रहे हैं.अब इस मामले में जो जानकारी सामने आई है वो और अधिक हैरान करने वाली है. अब मस्जिद विस्फोट मामले में सेना के पूर्व मेजर का कनेक्शन सामने आया है. जांच में पता चला है कि मस्जिद में जिस बारूद से विस्फोट हुआ है वो बारूद किसी और ने नहीं बल्कि सेना के कथित मेजर अशफाक ने पहुंचाया था. मेजर अशफाक को गिरफ्तार कर लिया गया है.

जानकारी के मुताबिक, घटना में मौके पर मौजूद सेना के कथित मेजर के ​तरफ पुलिस का रुख मुड़ा है. वह पुलिस अधिकारियों को अपने रुतबे में ले लिया था. अब इसी कथित मेजर की भूमिका प्रमुख सूत्रधार के रूप में सामने आ रही है. प्रारम्भिक स्तर पर ही पुलिस व गुप्तचर इकाइयों की लापरवाही से आरोपी कथित मेजर घटना का रुख दूसरी तरफ मोड़कर फरार होने में सफल रहा. हालाँकि अब मेजर को हैदराबाद से गिरफ्तार कर लिया गया है.

जानकारी मिली है कि सेना में मेजर होने की धौंस व अंग्रेजी में बात करने के कारण पुलिस के एक बड़े अधिकारी असफाक से प्रभावित नजर आए तो स्थानीय पुलिस अशफाक की हर बात पर यस सर, जी सर कर रही थी. पुलिस अधिकारी इस कदर प्रभाव में थे कि अशफाक से सामान्य पूछताछ का साहस नहीं जुटा पा रहे थे. हालांकि एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी ने असफाक की आईडी मांगी तो वह आईडी दिखाने के बजाय बहस करने लगा.

प्रशासनिक अधिकारी ने उसकी शैली को अनुचित बताते हुए फटकार लगाई. हालांकि बहस में उसने यह स्वीकार किया कि वह 2017 में ही रिटायर्ड है और आईडी हैदराबाद में जमा है. इसके बाद अशफाक वहां से निकल गया तथा फरार हो गया. हालाँकि विस्फोट से उसका लिंक सामने आते ही पुलिस हरकत में आई तथा उसकी गिरफ्तारी की कोशिश में लग गई. इसके बाद अशफाक को हैदराबाद से गिरफ्तार कर लिया गया.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share