CAA पर मुंबई पुलिस कमिश्नर का बयान आईने जैसा है उन्मादियों व दंगाईयों के लिए

CAA पर मुंबई पुलिस कमिश्नर का बयान आईने जैसा है उन्मादियों व दंगाईयों के लिए


नागरिकता संशोधन अधिनियम CAA तथा राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर NRC को लेकर देश में हिंसा और आगजनी कर रहे उन्मादियों को मुंबई पुलिस कमिश्नर ने आईना दिखाया है. मुंबई पुलिस कमिश्नर संजय बर्वे ने कहा है कि  एनआरसी और नागरिकता कानून के मुद्दे पर लोगों को भड़काया जा रहा है. गलतफहमी पैदा की जा रही है. एनआरसी और सीएए से देश के नागरिकों को कोई खतरा नहीं है. बर्वे ने बुधवार को मुंबई के मौलानाओं और मुस्लिम धर्म-गुरुओं से बातचीत के बाद यह बयान दिया तथा हिंसा न करने की चेतावनी दी.

मुंबई के सीपी संजय बर्वे ने कहा कि मैं भी पैदा यहीं हुआ हूं, मेरे पास बर्थ सर्टिफिकेट नहीं है लेकिन जब बात आएगी तो साबित कर देंगे. बर्थ सर्टिफिकेट नहीं है तो क्या हुआ यहां का मुलाजिम हूं. देश के नागरिक पर CAA और NRC से कोई आंच नहीं आएगी. जब मेरी नागरिकता पर खतरा नहीं तो मुसलमानों को खतरा कैसा. उन्होंने कहा कि लोग प्रदर्शन करने के लिए अनुमति हमसे मांग रहे हैं, उनके बारे में और उनके बैकग्राउंड के बारे में हम अच्छी तरह जानते हैं. आप लोग किसी बहकावे में न आएं और ऐसे किसी भी प्रदर्शन में शामिल न हों जिसकी अनुमति न हो.

कोरोना से पीड़ित गरीब लोगो के लिए आर्थिक सहयोग

संजय बर्वे ने कहा कि एनआरसी के नए नियम बने नहीं हैं. जो लोग बाहर के हैं, उन्हें तकलीफ होगी. उन्होंने कहा कि जुम्मे की नमाज में हिंदुस्तान के लिए दुआ करो. गलतफहमी का शिकार न हो. उन्होंने आगे कहा कि कुछ लोग हैं जो इस देश मे फसाद चाहते हैं. फिरकापरस्ती करना चाहते हैं. हम उनके बारे में अच्छे से चाहते हैं. कुछ लोग अब भी परमिशन के लिए घूम रहे हैं. हम जानते हैं कि वो लेफ्ट के लोग हैं. उनके बारे में भी मैं अच्छे से जानता हूं.

मुंबई पुलिस आयुक्त ने कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने साफ बात कही है कि जो देश का नागरिक है, उसे कोई भी आंच नही आएगी. मेरे पास खुद बर्थ सर्टिफिकेट नहीं  है. जो इस देश में ही पला बढ़ा है, उनको कोई तकलीफ नहीं होगी. तकलीफ उसको होगी जो बाहर के हैं. डिटेंशन सेन्टर उनके लिए हैं, जो बाहर से आते हैं. अपना पासपोर्ट फाड़ देते हैं और यहां ड्रग्स का काम करते हैं. पासपोर्ट फ़ाड़ दिए जाने की वजह से वो किसी देश में डिपोर्ट नहीं कर पाते है, उनके लिए डिटेंशन सेन्टर बनाए गए हैं. उन्होंने कहा कि देश में हिंसा करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share