Breaking News:

CAA के विरोध में भाजपा के उस मुस्लिम कार्यकर्ता ने पार्टी छोड़ी जो BJP से टिकट ले कर बना था पार्षद. नाम है हाजी उस्मान जो 15 साल तक शिवराज सरकार में जमाये रहे सत्ता की धौंस


भाजपा से टिकट मिलने के चलते इन्हें इलाके के हिंदुओं का भारी वोट व समर्थन मिला था.  उसी प्रचंड समर्थन के चलते इन्होंने शिवराज सरकार में अपनी एक अलग पहिचान बना ली थी और 15 साल तक अपनी एक धौंस जैसी रखी.. शिवराज सरकार के जाते ही व कांग्रेस की कमलनाथ सत्कार के आते ही इनके रुख में बदलाव आने लगा और सत्ता के गलियारों से ये बात सामने आने लगी कि ये भारतीय जनता पार्टी से अलग होने का बहाना खोजने लगे थे. ,आखिरकार इन्हें सबसे सही समय अब लगा जब CAA के नाम पर देश के कई हिस्सों में उन्मादियों ने हिंसक कृत्य किये हैं

इंदौर के भाजपा पार्षद हाजी उस्मान पटेल ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) पर पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा कि ये कानून एक समुदाय के साथ भेदभाव करता है। पटेल ने भाजपा पर नफरत की राजनीति करने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, ‘बीजेपी असल मुद्दों से दूर चली गई है। केवल सांप्रदायिक राजनीति कर रही है। जीडीपी नीचे जा रही है, महंगाई बढ़ रही है लेकिन पार्टी ऐसे कानून ला रही है जो सभी धर्मों के लोगों के बीच दरार पैदा कर रहा है।’

खजराना इलाके के नगरपालिका पार्षद ने कहा कि उन्हें पद छोड़ने में कुछ समय लगा क्योंकि वह अधिवक्ताओं से कानून की बारीकियों को समझना चाहते थे। हालांकि, अब वह मान रहे हैं कि ये कानून मुसलमानों के खिलाफ है।

अपने फेसबुक पर विडियो पोस्ट में उन्होंने कहा, ‘दोस्तो, मैं उस्मान पटेल खजराना इंदौर से पार्षद हूं। पिछले 40 वर्षों से भारतीय जनता पार्टी में रहकर आपकी सेवा करता आया हूं। स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी के सिद्धांतों से प्रेरित होकर मैं भाजपा में आया था, लेकिन अब पार्टी अपने सिद्धांतों से बदल गई है। नफरत की राजनीति कर रही है और जो नया कानून सीएए-एनपीआर लाया गया है, वो मुस्लिम विरोधी है, देश के संविधान के खिलाफ है। इसलिए मैं उस्मान पटेल मेरे समस्त कार्यकर्ताओं के साथ भाजपा से इस्तीफा दे रहा हूं। मेरी कौम की जो मां-बहनें, भाई, बुजुर्ग सड़कों पर बैठे हैं, मैं उनके साथ हूं और हमेशा रहूंगा। हिंदुस्तान…हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई से मिलकर बना है। यही हमारे देश की ताकत है। हिंदुस्तान जिंदाबाद…! हिंदू मुस्लिम एकता जिंदाबाद…! देश का संविधान जिंदाबाद…!’


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share