Breaking News:

श्री राम भक्त हनुमान की शरण में मुस्लिम महिलाएं, बोली – बचा लो हमें तीन तलाक से…

वाराणसी : जहां एक तरफ सुप्रीम कोर्ट के संविधान पीठ में 11 मई को तीन तलाक को लेकर सुनवाई होनी है। तो दुसरी और इससे देशभर की मुस्लिम महिलाओं में बेचैनी है। इसी को लेकर पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के हनुमान मंदिर में एक अनोखा नजारा देखने को मिला।

जहां मंदिर में बुर्का पहने मुस्लिम महिलाओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया। जहां ये बैठकर इन महिलाओं ने हनुमान चालीसा का पाठ किया वहां तीन तलाक से मुक्ति मिले का एक पोस्टर भी चिपकाया गया है। बता दें कि तीन तलाक के संकट से मुक्ति के लिए मुस्लिम महिला फाउंडेशन की नेशनल सदर नाजनीन अंसारी ने भगवान श्रीराम की आरती के बाद 100 बार हनुमान चालीसा का पाठ किया।

आपको बता दें कि आज से (11 मई) सुप्रीम कोर्ट की संविधान पीठ तीन तलाक के मामले को लेकर सुनवाई करने वाली है। 4 दिनों तक मामले की लगातार सुनवाई होगी। प्रधान न्यायाधीश जगदीश सिंह खेहर की अध्यक्षता वाली पांच सदस्यीय संविधान पीठ सात याचिकाओं पर सुनवाई शुरू हो गई। इनमें पांच याचिकायें मुस्लिम महिलाओं ने दायर की हैं जिनमें मुस्लिम समुदाय में प्रचलित तीन तलाक की प्रथा को चुनौती देते हुये इसे असंवैधानिक बताया गया है।

वहीं, इस मामले में महिलाओं ने कहा कि ट्रिपल तलाक से मुक्ति चाहती हैं, इसीलिए हनुमान चालीसा पढ़ रही हैं। साथ ही पातालपुरी मठ के पीठाधीश्र्वर बाबा बालकदास ने कहा कि जिस तरह के अत्याचार से मुस्लिम महिलाओं को सभ्य समाज में जूझना पड़ रहा है, वो अशोभनीय है। धर्म का काम विपत्ति में राह दिखाना है, शोषण करना नहीं। नाजनीन अंसारी के समर्थन में मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के राष्ट्रीय सेवा प्रमुख डा. राजीव श्रीवास्तव आदि पहुंचे थे। गौरतलब है कि पिछले कुछ महीनों से देश में तीन तलाक के मुद्दे पर बहस छिड़ी हुई है।

Share This Post