Breaking News:

खबरदार, अगर मध्यप्रदेश में आदिवासियों को हिन्दू कहा या लिखा तो जाना होगा जेल.. ये आदेश है कमलनाथ का


ये पहली बार नहीं है जब इस प्रकार का विवाद पैदा हुआ हो. इस से पहले भी कर्नाटक में लिंगायत को अलग करने पर भारी विवाद हो चुका है. इन विवादों की आड़ में धर्मांतरण करने वालों की चांदी हो जाया करती है और उन्हें एक प्रकार से अधिकार जैसा मिल जाया करता है ये बता कर कि हिन्दू समूह कौन होते हैं इस बीच में बोलने वाले जब सरकार इन्हें आधिकारिक रूप से हिन्दू मानने से मना कर रही है.

इस बार मध्य प्रदेश में कांग्रेस शासित कमलनाथ सरकार फिर से चर्चा में है जिसने साफ साफ़ आदेश दिया है कि अगर आदिवासियों को हिन्दू कहा गया तो ऐसा करने वालों पर कानूनी कार्यवाही की जायेगी. ये इशारा सीधे सीधे राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ RSS की तरफ था जिसके बाद में एक अपुष्ट खबर वायरल करवाई गई थी कि अगली जनगणना में आदिवासियों की संख्या को भी हिन्दुओं की आबादी में गिनाया जाएगा.

बस इसी के बाद कमलनाथ सरकार सक्रिय हो गई और ऐसा करने पर कानूनी कार्यवाही की चेतावनी दे डाली. सीएम कमलनाथ ने कहा है कि इस तह का अभियान चिंता का विषय है और इस तरह के अभियान को प्रदेश में चलाया गया तो उनके खिलाफ वैधानिक कार्रवाई होगी. सीएम कमलनाथ ने  कहा कि संघ का आदिवासी को हिंदू धर्म बताने के लिए प्रेरित करना ठीक नहीं है. आदिवासियों को धार्मिक पहचान बताने के लिए मजबूर करना बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. आदिवासी को हिंदू घोषित करने के लिए मजबूर नहीं किया जा सकता है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share