Breaking News:

“5 साल बर्बाद किये हैं आपने मेरे, लेकिन अब अगले 5 साल में ऐसा होने नहीं दूंगा”.. आखिर किससे बोले पीएम मोदी


आपने मेरे कार्यकाल के शुरुआती 5 साल बर्बाद कर दिए हैं लेकिन ध्यान रखो अब मैं ऐसा होने नहीं दूंगा. ये शब्द किसी और के नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हैं. केंद्र सरकार के “एक भारत, श्रेष्ठ भारत” कार्यक्रम की समीक्षा करने के लिए हुई बैठक के समापन पर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बैठक में उपस्थित शीर्ष नौकरशाहों से ये बात कही. पीएम मोदी ने नौकरशाहों से कहा कि उनका पहला पांच-साल का कार्यकाल खराब किया है, लेकिन वह उन्हें दूसरा खराब करने की अनुमति नहीं देंगे.

जानकारी के मुताबिक, कार्यक्रम के क्रियान्वयन में देरी के लिए नौकरशाहों को जिम्मेदार ठहराते हुए पीएम मोदी ने कहा, “आप ने मेरे पांच साल बर्बाद किए हैं, मैं आपको अगले पांच साल बर्बाद नहीं करने दूंगा.” देश के पहले ग्रह मंत्री सरदार पटेल द्वारा इसकी अवधारणा के बाद से, भारतीय नौकरशाही एक राष्ट्रीय से सेल्फ सर्विंग एजेंडे में ट्रांसफर हो गई है, जिसका ज्यादा ध्यान प्रक्रियाओं पर रहता है, परिणामों पर नहीं. नौकरशाही में किसी भूल या गलती के लिए कोई दंड नहीं होता है, जबकि आयोग के कामों पर अक्सर भ्रष्टाचार और दुर्भावना के लिए संदेह के तहत पूछताछ की जाती है.

कहा गया है कि एक समय पर भारतीय शासन व्यवस्था का स्टील फ्रेम माने जाने वाली नौकरशाहों अब अपने स्वयं के प्रभावित मैदान की रक्षा करने की कोशिश में जुटी है. 2020-2021 तक भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) सहित सभी ग्रुप ए सेवाओं के लिए एक समान फाउंडेशन कोर्स आयोजित करने का मोदी सरकार का निर्णय भारतीय नौकरशाही के भीतर काम करने वाले इन कुलीन क्लबों को तोड़ने का पहला कदम है.

बता दें 26 अगस्त से 6 दिसंबर 2019 तक IAS और अन्य ग्रुप ए सेवाओं में नियुक्त होने वाले 744 उम्मीदवारों के लिए 94वें फाउंडेशन कोर्स की गुजरात के केवड़िया में शुरुआतक कर सरकार ने एक सही पहल शुरू की है. यह कोर्स जिस मॉड्यूल पर आधारित था उसमें पीएम मोदी ने प्रशिक्षु नौकरशाहों को अपने परिणामों को दोगुना करने के लिए प्रेरित किया, ताकि भारत 2022 तक 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन सके.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share