भाजपा के हाथों करारी हार झेलने के बाद अखिलेश ने स्वीकारी अपनी हार, कहा- शायद जनता को एक्सप्रेस-वे नहीं आया पसंद

लखनऊ : उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा के हाथों करारी हार झेलने के बाद अखिलेश यादव ने अपनी हार स्वीकार कर ली है। गठबंधन की हार के बाद अखिलेश यादव ने कहा है कि कांग्रेस-सपा के साथ गठबंधन जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के साथ गठबंधन अच्छा रहा।

अखिलेश यादव ने कहा है कि वह जनता के फैसले को स्वीकार करते हैं और उम्मीद जताते हैं कि नई सरकार बेहतर काम करेगी। अखिलेश ने कहा कि नई सरकार के गठन के बाद पहली कैबिनेट बैठक के बाद जो निर्णय आएंगे, उसका हम सबको इंतजार रहेगा। किसानों का कर्ज माफ हुआ तो बहुत खुशी होगी।

साथ ही उन्होंने यूपी और उत्तराखंड चुनाव में भाजपा की जीत के लिए पीएम मोदी को बधाई दी और कहा कि जनता का फैसला स्वीकार है। उन्होंने कहा कि यूपी की नई सरकार सभी वर्गों के लिए काम करेगी और शायद बुलेट ट्रेन के लिए जनता ने वोट दिया है। अखिलेश ने यह भी कहा कि अब जनता की यह इच्छा पूरी हो जाएगी।

अखिलेश ने अपनी पार्टी के कार्यकर्ताओं और नेताओं को धन्यवाद देते हुए हार की जिम्मेदारी लेने के सवाल पर कहा कि ‘मुख्यमंत्री मैं था, राष्ट्रीय अध्यक्ष मैं हूं. हार की समीक्षा करने के बाद जिम्मेदारी लूंगा, अभी से मैं कैसे जिम्मेदारी ले लूं। हमारी साइकिल पंक्चर नहीं हुई, क्योंकि वह ट्यूबलेस थी। राजनीति में पता नहीं कब क्या हो जाए।’  

वहीं, अखिलेश ने बसपा अध्यक्ष मायावती की ओर से ईवीएम पर सवाल खड़े किए जाने पर कहा कि “मैं मानता हूं कि यदि बसपा नेता ने ईवीएम पर कोई सवाल उठाया है तो इस पर सरकार को सोचना चाहिए। मैं बूथ का विश्लेषण करने के बाद अपनी बात रखूंगा. यदि सवाल उठा है तो सरकार को जांच करा लेनी चाहिए।”

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW