Breaking News:

NIA ने गिरफ्तार किया वो गद्दार जो था तो भारत का, पर पैसे जुटा रहा था लश्कर ए तैयबा के लिए


राष्ट्रीय जांच एजेंसी NIA ने दिल्ली एयरपोर्ट से जावेद अली नामक गद्दार को गिरफ्तार किया है जो रहने वाला तो हिंदुस्तान का था लेकिन काम हिंदुस्तान के दुश्मन इस्लामिक आतंकी दल लश्कर ए तैयबा के लिए कर रहा था. जावेद हिंदुस्तान के मुजफ्फरनगर में पैदा हुआ, हिंदुस्तान की हवा में सांस ली, हिंदुस्तान में ही पला बढ़ा. उम्मीद थी कि जावेद अपने देश के हित में काम करेगा लेकिन जावेद ने इस उम्मीद को तोड़ दिया तथा उस आतंकी संगठन लश्कर के लिए काम करना शुरू किया जो लश्कर हिंदुस्तान की बर्बादी के नापाक सपने देखता है.

जानकारी के मुताबिक़, हवाला कारोबार के जरिये आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैय्यबा को फंड जुटाने के मामले में दो साल से एनआईए को जावेद की तलाश थी. मुजफ्फरनगर के छपार थाना क्षेत्र के गांव खामपुर निवासी जावेद अली पुत्र इमरान पिछले कई साल से सऊदी अरब में रहकर कारपेंटर का काम करता था. रविवार देर रात वह सऊदी अरब से स्वदेश लौटा था, नई दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट पर पहुंचते ही उसे एनआईए की टीम ने गिरफ्तार कर लिया.

दो साल पहले लश्कर के एक सरगना शेख अब्दुल नईम उर्फ सोहेल खान को एनआईए ने गिरफ्तार किया था. उससे पूछताछ के बाद खुलासा हुआ था कि जावेद सऊदी अरब से हवाला के जरिए मुजफ्फरनगर हवाला चैनल के माध्यम से टेरर फंडिंग कर रहा है. इस मामले में नईम के अलावा पांच अन्य को भी गिरफ्तार किया गया था, वहीं जावेद सहित पांच फरार थे. आतंकी इस फंड का इस्तेमाल लश्कर-ए-तैय्यबा भारत में रैकी करने, आतंकियों की भर्ती और विदेशी नागरिक व पर्यटकों सहित सॉफ्ट टारगेट की पहचान करने के लिए कर रहा था. जावेद ने लश्कर-ए-तैयबा के संचालक शेख अब्दुल नईम उर्फ सोहेल खान के लिए धन जुटाने में कथित भूमिका निभाई थी.

NIA अधिकारी ने कहा कि वह कथित रूप से आतंकवादी संगठन लश्कर से जुड़ा हुआ है और 2017 में सऊदी अरब से मुजफ्फरनगर तक हवाला चैनलों के माध्यम से धन की व्यवस्था करने में शामिल था, जो नईम को मिला था. एनआईए की जांच में आगे पता चला है कि आतंकी फंड का इस्तेमाल देश के विभिन्न हिस्सों से लश्कर के लिए आतंकवादियों की भर्ती करने और विदेशी नागरिकों और पर्यटकों सहित नरम लक्ष्यों की पहचान करने के लिए किया जाता था. अधिकारी ने कहा कि आपराधिक साजिश और देश के खिलाफ युद्ध छेड़ने के लिए उसके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share