मोदी जी, अमित शाह तथा मुझे झूठे मामलों में फंसाने की साजिश रची थी पी. चिदंबरम ने- नितिन गडकरी


भ्रष्टाचार के मामले में 100 से ज्यादा दिन तक जेल की हवा खाने के बाद जमानत पर बाहर आये पूर्व केंद्रीय मंत्री तथा कांग्रेस नेता पी. चिंदबरम पर मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जोरदार हमला बोला है. उन्होंने दो टूक कहा है कि भाजपा, पी चिदंबरम या किसी अन्य के खिलाफ बदले की भावना से काम नहीं कर रही है. बल्कि उन्होंने कहा कि यह पी चिदंबरम ही थे जिन्होंने अतीत में यूपीए सरकार के दौरान गुजरात के तब के मुख्यमंत्री नरेन्द्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के साथ ही उन्हें भी फर्जी मामलों में फंसाने की कोशिश की थी, लेकिन सभी निर्दोष साबित हुए थे.

ओदी सरकार में सड़क परिवहन, राष्ट्रीय राजमार्ग एवं लघु, सूक्ष्म एवं मध्यम उद्योग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि हम बदला लेने वाले लोग नहीं हैं. लेकिन दूसरी तरफ पी चिदंबरम वित्त मंत्री पद पर रहते हुए झूठे मामले दर्ज करवा रहे थे. चिदंबरम जब कांग्रेस सरकार में वित्त मंत्री थे तब उन्होंने मोदी, शाह और मेरे खिलाफ झूठे मामले दर्ज करवाए थे. गडकरी ने कहा कि चिदंबरम ने हम सभी को फर्जी मामलों में फंसाने की कोशिश की लेकिन बाद में हम सभी अदालतों में निर्दोष साबित हुए. चिदंबरम ने गृह मंत्री रहते भी क्या किया, पूरा देश जानता है.

अपनी सक्रियता तथा कार्यों के कारण जनता के बीच बेहद ही लोकप्रिय केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने आगे कहा कि पी चिदंबरम के खिलाफ धन शोधन के मामलों में पर्याप्त सबूत हैं और उनसे पूछताछ भी हुई है. मामला विचाराधीन है और अब अदालत ही फैसला करेगी. हम प्रवर्तन निदेशालय का दुरुपयोग नहीं कर रहे हैं. चिदंबरम को जमानत मिलने से यह नहीं साबित होता कि वह निर्दोष हैं. उनके खिलाफ जो मामले हैं उनमें कानून की प्रक्रिया के अनुसार कार्रवाई हुई है.

नितिन गडकरी ने कहा कि जहां तक चिदंबरम के मामले में कांग्रेस के आरोप हैं कि उन्हें आईएनएक्स मीडिया मामले में फंसाया गया है तो यह बात अदालत में साबित होगी कि क्या सच है और क्या झूठ है. बता दें कि उच्चतम न्यायालय ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) द्वारा दर्ज आईएनएक्स मीडिया हवाला मामले में 106 दिनों बाद पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को कल 4 दिसंबर बुधवार को जमानत दे दी थी. इसके बाद चिदंबरम जेल से बाहर आ चुके हैं. चिदंबरम को पहली बार 21 अगस्त को इस मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा गिरफ्तार किया गया था वहीं 16 अक्तूबर को हवाला मामले में प्रवर्तन निदेशालय  ED द्वारा उनकी गिरफ्तारी हुई थी.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share