अब “गजवा ए हिन्द” एप भी आया प्ले स्टोर पर… क्या इशारा दिया जा रहा आने वाले कल की तैयारी का ?


भारत की सोशल मीडिया और भारत के सर्च इंजन की मांग और जरूरत पर पिछले कई बिंदास बोल और कई जन संसद में सुरेश चव्हाणके जी ने अपनी राय रखी थी और आने वाले कल के लिए इसको बेहद जरूरी आवश्यकता बताया था.. इस मांग को भले ही उस समय गंभीरता से नहीं लिया गया था लेकिन अब उसकी जरूरत साफ़ साफ दिखाई दे रही है क्योकि गूगल जैसे ब्रांड भी उस उन्माद को सीधे सीधे बढ़ावा देते दिखाई दे रहे हैं जो साफ चेतावनी है भारत के हिन्दूओ के लिए आने वाले कल में..

ध्यान देने योग्य है कि कई बार कश्मीर या देश के कुछ अन्य हिस्सों के आतंकियों द्वारा बयानों में गजवा ए हिंद जैसे शब्द सुने गये हैं. यहाँ तक कि कश्मीर के दुर्दांत आतंकी जाकिर मूसा ने तो बाकायदा गजवा ए हिंद नाम का समूह बना कर पहले कश्मीर और बाद में भारत तक को फतह करने के मंसूबे पाल रखे थे.. पाकिस्तानी TV चैनलों की बहस में तो गजवा ए हिंद का जिक्र आये दिन होता रहता है लेकिन भारत में तमाम बातें जान कर भी स्वरचित सेकुलरिज्म के मूल्यों को जीवित रखने के लिए इस से इंकार किया जाता रहा है.

जो गूगल हिन्दू या हिंदुत्व जैसी बातो को लिखने पर उसको साम्प्रदायिक शब्द मान कर ब्लर कर देता है या चेतावनी अलर्ट जारी करता है, उसी गूगल पर अब गजवा ए हिंद नाम का एप भी स्टोर कर दिया गया है जो उसके प्ले स्टोर में दिख रहा है. इसको कई लोगों द्वारा डाऊनलोड भी कर लिया गया है.. सोशल मीडिया इन्फ्लुएंसर अंशुल सक्सेना ने भी रीट्वीट करते हुए संचार मंत्री रवि शंकर प्रसाद को टैग किया। उन्होंने पूछा कि, गूगल अपने प्लेटफोर्म पर कट्टरपंथ को जडें कैसे जमाने दे सकता है ? साथ ही ऍप और किताब की लिंक भी डालते हुए इन्हें रिपोर्ट करने की अपील की !

भारतीय खिलाडी, स्पेशल फोर्सेज के रिटायर्ड सैनिक और भाजपा सदस्य मेजर सुरेंद्र पूनिया ने ट्विटर पर हैरतंगेज स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं ! इसमें गूगल के ऍप स्टोर पर ‘गजवा ए हिन्द’ के नाम से एक ऍप और एक किताब डाउनलोड करने के लिए उपलब्ध दिखाए जा रहे हैं ! इस ट्वीट में उन्होंने एनआईए, गृह मंत्रालय और प्रधानमंत्री कार्यालय को टैग करते हुए उनका ध्यान दिलाया है ! साथ ही अपने फॉलोवर्स से इस ऍप को गूगल को रिपोर्ट करने के लिए भी कहा है !


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...