Breaking News:

राष्ट्र के लिए सुखद खबर. असम में 644 बोडो विद्रोहियों ने सेना के आगे हथियार डाल कर राष्ट्रभक्ति की शपथ ली


ये देश के लिए बड़ी सुखद खबर है. बोडो उन देशभक्तों का समूह है जिसका एक बड़ा वर्ग सदा से राष्ट्र के लिए समर्पित रहा है. कुछ अराजक तत्वों ने और कुछ राजनीति के नाकारेपन के साथ कई मीडिया समूहों के दोगले व्यवहार के चलते इन्हें एक लम्बे समय से हाशिये पर रखा गया और उन्हें वो सम्मान नहीं मिल पाया जिसके वो वास्तविक हकदार थे. फिलहाल असम में भारतीय जनता पार्टी और केंद्र में भी भाजपा सरकार के समूहिक प्रयासों से एक सुखद खबर सामने आ रही राष्ट्र के लिए.

गौरतलब है कि असम के लिए मुख्य खतरा बंगलादेशी घुसपैठी सदा से रहे हैं. वहां के मूल निवासी बोडो से उनका रक्तरंजित संघर्ष पहले भी हो चुका है. बंगलादेशी घुसपैठियों ने MULTA नाम का एक आतंकी समूह भी बना रखा है जिसकी चर्चा बहुत कम हुई है लेकिन ये वहां पर आतंकी हरकतों को लगातार जारी रखा.. बदनामी बोडो की करने का प्रयास किया गया जिसको सुदर्शन न्यूज़ ने लगातार प्रमाणों के साथ सच सामने रखा और अब उसके सुखद परिणाम भी सामने आने लगे हैं ..

ध्यान देने योग्य है कि असम में 644 बोडो विद्रोहियों ने अपने हथियार त्याग कर राष्ट्र के विकास में भागीदार बनने की शपथ लेते हुए सेना के आगे सरेंडर कर दिया है. सर्बनंद सोनोवाल सरकार के लिए ये बड़ी उपलब्धि मानी जा रही है. इसी के साथ अब बंगलादेशी घुसपैठ और उनके MULTA संगठन के खिलाफ सेना व् पुलिस को और अधिक एकाग्र होने का समय मिलेगा. बताया ये जा रहा है कि भाजपा की केंद सरकार और राज्य सरकार की नीतियों से प्रभावित हो कर इन विद्रोहियों ने हथियार त्याग कर राष्ट्र की मुख्यधारा में शामिल होने का फैसला किया है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share