हैदराबाद से कहीं भयानक बदला बिहार में ? कुकर्म कर के बेटा जेल गया तो कुकर्मी के अब्बा का हुआ ये खौफनाक हाल


जिस प्रकार से हैदराबाद में नृशंस बलात्कार और के आरोपियों को पुलिस ने मौत की नींद सुला दिया उसके बाद पूरे देश मे बलात्कार के दरिंदो को कड़ी से कड़ी सजा की वकालत शुरू हो है.. अदालतों में होने वाली धीमी न्यायिक प्रकिया के चलते आम जनता ने पुलिस के एक्शन को बड़े स्तर पर सही माना है और सोशल मीडीया में हैदराबाद एनकाउंटर को पुलिस की बड़ी उपलब्धि माना जा रहा है.. इतना ही नही, व्यापार जगत, फ़िल्म जगह और संसद तक मे इस घटना की वाहवाही की गई.. हालात यहां तक बने कि पुलिस पर फूल बरसाए गए और इस घटना को बाकी जगहों पर सबक के रूप में लेने की मांग मायावती जैसे नेताओं द्वारा की जा रही है…

लेकिन अदालत के न्याय के बाद पुलिस का न्याय और अब सवाल उठ रहा है कि क्या आम जनता भी न्याय देने पर उतर आएगी ? हैदराबाद की घटना के बाद जो कुछ बिहार में हुआ वो उस से भी बड़े परिणाम देने वाले कारक के रूप बताया जा रहा है..बिहार में अप्रारकृतिक कुकर्म के एक आरोपी के अब्बा को बेहरमी से मौत के घाट उतार दिया गया है..कुकर्म के आरोपी के अब्बा की लाश जिस हालात में मिली है उस से साफ दिख रहा है कि मारने वाला व्यक्ति इनसे अथाह नफरत करता रहा होगा..  इस घटना ने एक बार फिर से हैदराबाद की घटना को ताज़ा जैसा कर दिया है..

बिहार के जमुई जिले के चकाई थानाक्षेत्र के गरही गांव निवासी 40 मोहम्मद हातिम मियां की हत्या कर उसके शव को कब्रिस्तान के पास झाड़ी में फेंक दिया गया। हातिम प्रखंड के मध्य विद्यालय उरवा में शिक्षक के पद पर कार्यरत थे। वे अप्राकृतिक यौनाचार के आरोपी हस्तमत के अब्बा थे. हातिम बुधवार की देर शाम से लापता था। उसकी पत्नी शबनम खाातून द्वारा चकाई थाना में गांव के ही चार लोगों पर हत्या की नीयत से अपहरण करने की प्राथमिकी दर्ज करवाई थी। शुक्रवार की सुबह जब ग्रामीण हातिम को ढूंढ रहे थे तभी कुछ लोगों ने कब्रिस्तान के पास हातिम का जूता देखा। जूता देखने के बाद लोग इधर-उधर झाड़ियों में खोजबीन करने लगे तो हातिम की टोपी मिली। वहीं कुछ दूर झाड़ियों में हातिम का शव पड़ा था। हातिम की हत्या तेजधार हथियार से गला रेतकर की गई है।

मृतक की पत्नी शबनम खाातून ने बताया कि हातिम बुधवार की शाम एक मुकदमें में हाजिर होकर जमुई से चकाई लौट रहे थे। इस दौरान रास्ते से ही पुत्र को एक बारात में भेजकर खुद साईकिल से घर जाने की बात कही थी लेकिन घर नहीं पहुंचे। पत्नी शबनम खातून ने पति मोहम्मद हातिम के अपहरण को लेकर चकाई थाना में प्राथमिकी दर्ज के लिए आवेदन दिया था। वहीं, शुक्रवार सुबह सात बजे के करीब जब उसके परिजन गरही गांव के पूरब से लगभग आधा किलोमीटर दूर उसको खोजते हुए पहुंचे तो देखा कि उसका शव झाड़ी में है।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share