अयोध्या श्रीराम मंदिर मामले पर सुप्रीम फैसले के बाद पहली बार बोले पीएम मोदी, कही ये बड़ी बात


अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण के पक्ष में सुप्रीम फैसला आने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बयान दिया है. पीएम मोदी ने कहा है कि बीजेपी जो संकल्प लेती है, उसको पूरा करती है. इसके लिए पीएम मोदी ने कश्मीर से धारा 370 हटाने तथा अयोध्या में श्रीराम मंदिर मामले का उदहारण दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ये बयान झारखण्ड के डाल्टनगंज में विधानसभा चुनाव प्रचार के लिए आयोजित पार्टी की रैली में दिया.

झारखंड की जनता को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कश्‍मीर के अनुच्‍छेद 370 और अयोध्‍या श्रीराम मंदिर मामले का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी जो वाडे करती है उन्‍हें पूरा करती है, जबकि बाकी दल समस्‍याओं को लटकाए रखकर अपना वोट बैंक साधते हैं. पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी ने जो भी वादे और ऐलान किए हैं, उन्‍हें हम एक के बाद एक जमीन पर उतार रहे हैं चाहे वे कितने मुश्किल रहे हों. दूसरों के पास समस्‍याएं हैं हमारे पास समाधान हैं.’

अपने संबोधन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘कांग्रेस पार्टी के काम करने का तरीका समस्‍याएं टालने और उन पर वोट मांगने का रहा है. कांग्रेस ने इसीलिए आर्टिकल 370 का मसला लटकाए रखा. भगवान श्रीराम की जन्‍मभूमि का विवाद भी इन लोगों ने दशकों से लटकाया हुआ था. पीएम मोदी ने कहा कि कांग्रेस चाहती तो समाधान निकाल सकती थी लेकिन उसने ऐसा न करके अपने वोट बैंक की परवाह की. देश और समाज का नुकसान किया. लेकिन हमने मामला लटकाया नहीं और परिणाम सामने है.

झारखण्ड में मुख्यमंत्री रघुवर दास के नेतृत्व वाली बीजेपी सरकार का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी सरकार ने नए झारखंड के लिए सामाजिक न्याय के पांच सूत्रों पर काम किया है. पहला सूत्र है- स्थिरता, दूसरा है- सुशासन, तीसरा है- समृद्धि, चौथा- सम्मान और पांचवां सूत्र है- सुरक्षा. पीएम नरेंद्र मोदी का कहना था कि बीजेपी ने झारखंड को स्थिर सरकार दी है. झारखंड में भ्रष्टाचार समाप्त करने के लिए दिनरात काम किया है और पारदर्शी व्यवस्थाएं बनाई हैं. इस तरह बीजेपी ने झारखंड में समृद्धि का मार्ग खोला है.

पीएम मोदी ने झारखंड में नक्‍सल समस्‍या का जिक्र करते हुए कहा कि बीजेपी ने झारखंड को नक्सलवाद और अपराध से मुक्ति दिलाने के लिए, भयमुक्त वातावरण के लिए प्रयास किया है. झारखंड में नक्सलवाद की समस्या इसलिए भी बेकाबू हुई क्योंकि यहां राजनीतिक अस्थिरता थी. यहां सरकारें पिछले दरवाज़े से बनती और बिगाड़ी जाती थीं क्योंकि उनके मूल में स्वार्थ और करप्शन होता था. विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए मोदी ने कहा कि इन स्वार्थी लोगों में झारखंड की सेवा करने के लिए कोई भावना नहीं है. इन स्वार्थी लोगों के गठबंधन का एकमात्र अजेंडा सत्ताभोग और झारखंड के संसाधनों का दुरुपयोग है. इसीलिए ये एक बार फिर आपको भ्रमित कर आपसे वोट मांग रहे हैं.

प्रदेश के किसान वर्ग को संबोधित करते हुए नरेंद्र मोदी ने कहा कि उत्तर कोयल जलाशय योजना करीब 40 साल से अटकी हुई थी। तब जो सत्ता में थे, उन्होंने परियोजना को पूरा करने के लिए कभी गंभीर कोशिश ही नहीं की. बरसों तक पलामू, लातेहार और गढ़वा के लाखों किसान परेशान रहे लेकिन कांग्रेस और उसके साथी दलों ने उनकी चिंता नहीं की. किसान की मेहनत, सपने और उसकी गरिमा क्या होती है, ये बीजेपी समझती है. उन्‍होंने आगे जोड़ा कि दिल्ली और रांची में बीजेपी की सरकार बनने के बाद इस प्रोजेक्ट से जुड़ी समस्याओं का समाधान किया गया. सरकार में वापसी के बाद इस परियोजना को जल्द से जल्द पूरा किया जाए.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share