Breaking News:

महाराष्ट्र : अब प्रोटेम स्पीकर पर टिकी सबकी निगाहें जिनकी भूमिका होगी सबसे अहम.. जानिए कौन बन सकता है प्रोटेम स्पीकर ?


महाराष्ट्र में लंबे समय से जारी हाईवोल्टेज सियासी ड्रामे के बीच सुप्रीम कोर्ट ने अहम् फैसला सुनाया है. सुप्रीम कोर्ट बीजेपी तथा डिप्टी सीएम अजित पवार को कल बुधवार शाम 5 बजे तक बहुमत साबित करने का निर्देश दिया है. सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में कहा है कि फ्लोर टेस्ट से पहले सभी विधायकों की शपथ होगी. ये सारी प्रक्रिया प्रोटेम स्पीकर की देखरेख में होगी जो इस मामले में सबसे अहम भूमिका निभाने वाले हैं. प्रोटेम स्पीकर कौन होगा, ये राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी तय करेंगे.

सुप्रीम फैसले के अनुसार, प्रोटेम स्पीकर ही सभी विधायकों को शपथ दिलाएंगे और फिर फ्लोर टेस्ट कराएंगे. प्रोटेम स्पीकर को सभी पार्टियां अपने व्हिप की जानकारी भी देंगी. अब ऐसे में सवाल उठता है कि प्रोटेम स्पीकर कौन बनेगा. परंपरा के अनुसार, सदन के सबसे वरिष्ठ सदस्य को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया जाता है. सबसे अधिक बार चुनकर आए विधायक को प्रोटेम स्पीकर बनाया जाता है, जिसे राज्यपाल मनोनित करते हैं. अब ऐसे में सवाल उठता है कि प्रोटेम स्पीकर बनाने में परंपरा को फॉलो किया जाएगा या नहीं.

फिलहाल जो जानकारी मिली है उसके अनुसार, विधानसभा के सचिव ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को प्रोटेम स्पीकर के लिए 6 नामों की लिस्ट भेजी है. ये भी जानकारी मिली है कि ये वो नाम हैं जो 5 बार से ज्यादा बार विधानसभा चुनाव जीत चुके है. जिन 6 नेताओं के नाम भेजे गए हैं उनमें राधाकृष्ण विखे पाटील, कालिदास कोलंबकर, बबनराव पाचपुते, बालासाहेब थोराट, केसी पाडवी और दिलीप वलसे पाटील शामिल हैं. इस सूची में कांग्रेस के बालासाहेब थोराट का नाम पहले और बीजेपी के कालीदास कलामकर का नाम दूसरे स्थान पर है.

चूँकि बालासाहेब थोराट को कांग्रेस ने विधायक दल का नेता चुन लिया है, इस लिहाज से उनका प्रोटेम स्पीकर बनने की संभावना कम ही है. इसके साथ ही पूरे मामले में अहम कड़ी प्रोटेम स्पीकर ही साबित होने वाले हैं, ऐसे में देखना यही होगा कि प्रोटेम स्पीकर कौन बनता है. बीजे[पी यही चाह रही होगी कि उसी का नेता प्रोटेम स्पीकर बने. प्रोटेम स्पीकर की भूमिका इसलिए अहम् है क्योंकि वही ये तय करने वाले हैं कि एनसीपी की तरफ से विधायक दल का नेता अजित पवार होंगे या जयंत पाटिल क्योंकि जो भी विधायक दल का नेता होगा वही व्हिप जारी करेगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share