Breaking News:

कश्मीर में कट्टरपंथियों को जमीन सुंघाने पर आमादा मोदी सरकार… फारुख अब्दुल्ला के बाद और 350 पाकपरस्तों पर लगेगा PSA

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाए जाने के बाद केंद्र की मोदी सरकार जहाँ एकतरफ आम कश्मीरी जनता की सहूलियत के लिए विकास की तमाम योजनाओं को लागू कर रही है तो वहीं दूसरी तरफ पाक्परास्तों के खिलाफ बेहद ही सख्त नजर आ रही है. जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री तथा नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख फारुख अब्दुल्ला पर PSA लगाने के बाद सरकार अब कश्मीर में पाकपरस्तों के गद्दारी भरे गफन कुचलने तथा उनको जमीन सुंघाने पर आमादा है.

खबर के मुताबिक़, फारुख अब्दुल्ला पर PSA लगाये जाने के बाद केंद्र सरकार कश्मीर के 350 अन्य पाकिस्तान परस्त कथित नेताओं तथा अलगाववादियों पर PSA लगाने की तैयारी में हैं. इसके पीछे बताया गया है कि जम्मू-कश्मीर को लेकर केंद्र सरकार काफी सख्त रुख अख्तियार किए हुए है. अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही सरकार राज्य की सुरक्षा को लेकर काफी सतर्क है इसलिए किसी को भी राज्य की सुरक्षा में कोई भी व्यवधान की गुंजाइश नहीं छोड़ना चाहती.

सूत्रों की मानें तो गृह मंत्रालय की ओर से राज्य प्रशासन को साफ निर्देश दिए गए हैं कि कश्मीर की कानून व्यवस्था में उल्लंघन करने वाले किसी भी व्यक्ति को बख्शा न जाए. सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि प्रशासन को निर्देश हैं कि राज्य की सुरक्षा में बाधा बनने वाले और लोगों को किसी भी तरह से भड़काने का प्रयास करने वालों के खिलाफ पब्लिक सेफ्टी एक्ट PSA के तहत मामला दर्ज कर लिया जाए. सूत्रों के मुताबिक आने वाले कुछ दिनों में ये एक्ट कई बड़े और रसूखदार लोगों पर लगाया जा सकता है.

खबरों की मानें तो आगामी दिनों में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि, अलगाववादी नेताओं समेत कथित सामाजिक सदस्यों को पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत गिरफ्तार किया जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक जल्द ही 350 से ज्यादा लोग पीएसए के दायरे में आ सकते हैं. आपको बता दें सार्वजनिक सुरक्षा अधिनियम या पब्लिक सेफ्टी एक्ट के तहत प्रावधान है कि इसमें बिना कोई मुकदमा चलाए किसी भी शख्स को दो साल तक के लिए हिरासत में लिया जा सकता है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करें. नीचे लिंक पर जाऐं–

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW