Breaking News:

मुंबई से राज ठाकरे ने भरी हिंदुत्व की हुंकार- “घुसपैठियों, छोड़ दो हमारा देश”.


अपनी राजनीति को अचानक ही करवट दिला कर एकदम नई राह पकड़ लेने वाले राज ठाकरे ने जिस प्रकार से हिन्दू और हिंदुत्व की आवाज को महाराष्ट्र में फिर से बुलंद कर दिया है उसके बाद ये माना जा रहा है कि शिवसेना का स्थान महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना लेने की राह पर चल चुकी है. शिवसेना वर्तमान की नहीं बल्कि उस समय की जब हिन्दू हृदय सम्राट बाला साहब ठाकरे ने उसको धर्मरक्षा के लिए समर्पित बताया था.

राज ठाकरे ने मुंबई के आज़ाद मैदान से बंगलादेशी और रोहिग्या को निकाल फेंकने के एलान के साथ एक बड़ी रैली की. उस समय भगवा ध्वज से महाराष्ट्र पटा दिखाई दिया. जय भवानी और जय शिवाजी के गगनभेदी नारे लगे. राज ठाकरे ने कहा, पाकिस्तान, अफगानिस्तान, बांग्लादेश में जिनपर वहां अत्याचार होगा, उन्हें यहां जगह दी जायेगी. इसी के साथ वहां मनसे कार्यकर्ताओं में जबर्दस्त दोष देखने को मिल रहा था.

मनसे अध्यक्ष राज ठाकरे ने कहा, मेरा देश धर्मशाला नहीं हैं. इस देश मे पानी बिजली की समस्याएं हैं, उतना ही समस्या देश मे घुसपैठियों की हैं. इस दौरान राज ठाकरे ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जो आज आपने ताकत दिखाई, उसका मैं ऋणी हूं. साथ ही मैंने कहा था मोर्चा का जवाब मोर्चा से देंगे.  खास करके मुसलमानों ने, उसका अर्थ मैं नहीं समझ पाया. जो यहां पैदा हुए, जो रह रहे हैं उनको किसने निकाला? फिर ये मोर्चे क्यों?

 

 


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share