Breaking News:

हैवान मोहम्मद पाशा ने दोस्तों के साथ प्लान बनाकर किया था डॉ. प्रियंका रेड्डी का बलात्कार, फिर ह्त्या कर जला दिया था लाश को


कहने को ये सिर्फ एक वारदात है, जिसकी साधारण सी खबर दिखा कर इतिश्री की जा सकती है. और ज्यादातर मीडिया चैनल ये कर भी रहे हैं. लेकिन अगर इस पर विचार किया जाए तो ये सिर्फ एक वारदात तथा खबर मात्र नहीं है बल्कि ये हमारे भविष्य, हमारी बहन-बेटियों के भविष्य की चेतावनी है, जिसे अगर हम अब भी नहीं देख पाए तो इसके दुष्परिणाम भयानक होने वाले हैं. इतने भयानक, जिसके बारे में सोचना भी आपके और हमारे लिए मुश्किल होगा. लेकिन अगर हम महिला सुरक्षा तथा उनकी अस्मिता के सम्मान के लिए उठ खड़े नहीं हुए, अगर हैवानों को सरेआम फांसी पर नहीं लटकाया गया तो आज जो प्रियंका रेड्डी के साथ हुआ है, वो कल को हमारी और आपकी आपकी बहन बेटियों के साथ भी होगा.

पशु चिकित्सक डॉ. प्रियंका रेड्डी की स्कूटी पंक्चर होती है. रात का समय होता है तो वह परेशान हो जाती है. तभी उसकी मदद के लिए कुछ लोग आते हैं तथा स्कूटी का पंचर जुड़वाने की बात कहते हैं. वह उनकी बात मान लेती है तथा फिर बहन को फोन करती है व सब कुछ बताती है. यहां तक सब कुछ ठीक दिखाई देता है. फिर उसका फोन स्विच ऑफ हो जाता है. अगले दिन डॉ. प्रियंका की आधी जली लाश मिलती है. लाश से थोड़ी दूरी पर उनके अंडरगारमेंट्स मिलते हैं. अर्थात प्रियंका के साथ रेप किया जाता है फिर उनकी ह्त्या कर शव को जलाकर फेंक दिया जाता है.

ये है हैवानियत की वो दास्ताँ है जो डॉ. प्रियंका रेड्डी के साथ हैदराबाद में हुई. हैदराबाद के प्रियंका रेड्डी हत्याकांड को तेलंगाना पुलिस ने सुलझा लेने का दावा किया है. उनके मुताबिक गिरफ्तार आरोपित मोहम्मद पाशा और अन्य तीन बहुत दिन से प्रियंका के साथ बलात्कार करने की योजना बना रहे थे और टोल प्लाजा पर खड़ी पीड़िता की स्कूटी को भी उन्होंने जानबूझकर पंचर किया था. मोहम्मद पाशा महबूबनगर जिले का रहने वाला बताया जा रहा है.

इसके अलावा प्रियंका के पोस्टमार्टम में पता चला है कि उनके साथ बलात्कार ही नहीं हुआ बल्कि उन्हें गला दबाकर हत्या करने के पहले बुरी तरह टॉर्चर भी किया गया था. उनकी लाश को मोहम्मद पाशा की लॉरी में भरकर टोल प्लाजा से 30-40 किलोमीटर(मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार) दूर ले जाकर आग लगा दी गई. पुलिस को जाँच में प्रियंका के अंतःवस्त्र और उनके पास ही शराब की बोतलें भी मिले.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share