55 सैनिको का हत्यारा और ढाई करोड़ का इनामी कुख्यात नक्सली हार्ट अटैक से मरा


अचानक ही उन तमाम परिवारों में चहलकदमी मच गई जिनके लाल इस देश की आंतरिक सुरक्षा को सुधारते और बचाते हुए इस दरिन्दे नरपिशाच की साजिश के जाल में फंस गये थे और सदा के लिए वीरगति पा गये थे. राष्ट्र की आन्तरिक सुरक्षा के लिए खतरा रह चुके नक्सलियों में से तमाम को जहाँ देश के जांबाज़ पुलिस बल व् अर्धसैनिक बलों ने एक एक कर के ढेर कर दिया तो अब के अच्छी खबर सुनाई दे रही है ढाई करोड़ के कुख्यात नक्सली की मौत के साथ ही.

ध्यान देने योग्य है कि लगभग 55 वीर जवानों की मौत के जिम्मेदार और ढाई करोड़ के इनाम को अपने सर पर जिन्दा या मुर्दा की हालत में पकड़े जाने की शर्त पर ले कर घूम रहे कुख्यात नक्सली रमन्ना की हार्ट अटैक से मौत की खबरें आ रही है.. सुरक्षा बलों की जबर्दस्त घेराबंदी के चलते एक लम्बे समय से छिप कर रह रहे इस नक्सली की मौत की खबर न सिर्फ बलिदानी सैनिको के परिवारों को, नक्सल के दंश से प्रभावित जनता को ही, बल्कि पूरे देश को सुकून देने वाली है..

बीते सोमवार को बीजापुर जिले के पामेड़ और बासागुड़ा गांव के बीच जंगल में उसका अंतिम संस्कार किया गया। तेलंगाना कोत्तागुड़म के पुलिस अधीक्षक सुनी दत्त ने रमन्ना की मौत की पुष्टि की है। वहीं मंगलवार को राज्य के आला पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जानकारी मिली है कि पिछले सप्ताह दिल का दौरा पड़ने से रमन्ना की मौत हो गई है।उस पर तेलंगाना, ओडिशा और छत्तीसगढ़ की सरकारों ने करीब दो करोड़ चालीस लाख रुपये का इनाम घोषित कर रखा था। खुद बस्तर पुलिस ने उस पर 40 लाख रुपये का इनाम रखा था। तेलंगाना के वारंगल जिले का रहने वाला रमन्ना उर्फ रावलु श्रीनिवास नक्सलियों की सेंट्रल कमेटी का सदस्य था।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share