SC ST एक्ट पर शिवराज सिंह चौहान के फैसले के बाद झूम उठा मध्य प्रदेश का सवर्ण हिन्दू.. अचानक ही बदल गये सभी राजनैतिक समीकरण शिवराज सिंह चौहान के आदेश के बाद एक बार फिर से झूम उठे सवर्ण हिन्दू .

जिस sc st एक्ट के लिए पिछले कुछ समय से सवर्ण हिन्दू आंदोलनरत थे आख़िरकार उनके प्रयासों का असर अब सतह पर दिखने लगा है . इस विरोध की तपिश सत्ता के शीर्ष तक पहुचने लगी है और पहले उत्तर प्रदेश के सवर्ण हिन्दुओं को हाईकोर्ट से राहत मिलने के बाद अब मध्य प्रदेश में भी सरकार ने अपनी तरह से ये फैसला लिया है जिसके बाद अचानक ही मध्य प्रदेश की फिजा पूरी तरह से बदल गयी है .

अब मध्य प्रदेश के बदले हुए माहौल में एससी-एसटी ऐक्ट में बिना पूरी जांच हुए दोषी पाए जाने से पहले आरोपित की गिरफ्तारी नहीं होगी . इस से पहले इस मुद्दे को लेकर पूरे प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी को भारी विरोध का सामना करना पड़ा था जिसमे मुख्य निशाने पर लिए जा रहे थे मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान. आख़िरकार अब उन्ही ने अब इस पर पहली बार सार्वजनिक तौर पर अपनी राय रखी है। चौहान ने कहा है कि राज्य में इस ऐक्ट का दुरुपयोग नहीं होगा। उन्होंने लोगों को आश्वासन दिया है कि बिना जांच के इस ऐक्ट के तहत प्रदेश में कोई गिरफ्तारी नहीं होगी।

बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा एससी-एसटी ऐक्ट में किए गए संशोधन के विरोध का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। मध्य प्रदेश में चुनावी माहौल के बीच शिवराज सरकार को लगातार इसका विरोध झेलना पड़ रहा है। पिछले दिनों कई जनसभाओं और यात्राओं के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज को लोगों के विरोध का सामना करना पड़ा। इस दौरान उन पर पथराव भी किया गया। उबता दें कि सोमवार रात रतलाम जिले में शिवराज को इस मुद्दे पर विरोध का सामना करना पड़ा था। इस फैसले के बाद अचानक ही शिवराज सिंह चौहान के प्रति मध्य प्रदेश का सवर्ण समाज एकजुट हो गया है और इस एकजुटता का लाभ उन्हें आगामी चुनावों में मिल सकता है .

Share This Post

Leave a Reply