Breaking News:

महाराष्ट्र में फिर शुरू हुआ खेल.. देवेन्द्र फडणवीस तथा अजित पवार के शपथ ग्रहण के शरद पवार के बयान से सियासी हड़कंप


महाराष्ट्र में लंबे समय से सरकार गठन को लेकर जो सियासी खींचतान चल रही थी वो अभी तक जारी है. देवेन्द्र फडणवीस तथा अजित पवार के मुख्यमंत्री तथा उपमुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद सरकार का गठन हो गया हो लेकिन सियासत का खेल अभी तक रुका नहीं है. देवेन्द्र फडणवीस तथा अजित पवार के शपथ ग्रहण के बाद एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बड़ा बयान दिया है.

एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने कहा है कि ये कुछ हुआ है वो उनकी बिना मर्जी से हुआ है. सिर्फ शरद पवार ही नहीं बल्कि एनसीपी नेता प्रफुल्ल पटेल ने भी मीडिया से बात करते हुए यही कहा कि ये फैसला एनसीपी का नहीं बल्कि अजीत पवार का है तथा शरद पवार इस फैसले में शामिल नहीं हैं. शरद पवार ने कहा है कि बीजेपी को समर्थन देना का फैसला एनसीपी का नहीं है. एनसीपी इस फैसले के साथ नहीं है. शरद पवार ने कहा कि अजित पवार ने पार्टी तोड़ दी.

इसके साथ ही शरद पवार ने ट्वीट करके भी कहा है कि अजीत पवार के फैसले का एनसीपी समर्थन नहीं करती है.

वहीं महाराष्ट्र के घटनाक्रम पर शिवसेना नेता संजय राउत की भी प्रतिक्रया आई है. संजय राउत ने मीडिया से बात करते हुए कहा है कि संजय राउत ने कहा कि आखिरी वक्त तक अजित पवार हमारे साथ थे. अजित पवार ने शरद पवार को धोखा दिया है. कल रात अजित पवार बैठक में मौजूद थे. अजित पवार को ईडी की जांच का डर है. संजय राउत ने कहा कि राज्यपाल भी इसमें शामिल हैं. राजभवन की शक्तियों का दुरुपयोग हुआ है. बीजेपी और फडणवीस सत्ता के लिए कुछ भी कर सकते हैं.

संजय राउत ने कहा कि अजित पवार वकील से मिलने के बहाने बाहर गए थे. सत्ता और पैसे के दम पर पूरा खेला हुआ है. अजित पवार नजर नहीं मिला पा रहे थे. अंधेरे में अजित पवार ने डाका डाला है. अजित पवार और उनके साथियों ने छत्रपति शिवाजी का नाम बदनाम किया है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share