सिर्फ भाजपा से अलग हुआ हूँ, हिंदुत्व से नहीं.. मेरी विचारधारा जो थी वही है और वही रहेगी - उद्धव ठाकरे - Hindi News, हिंदी समाचार, Samachar, Breaking News, Latest Khabar -

Breaking News:

सिर्फ भाजपा से अलग हुआ हूँ, हिंदुत्व से नहीं.. मेरी विचारधारा जो थी वही है और वही रहेगी – उद्धव ठाकरे


ये बयान न जाने कितने शिवसैनिको के मन में एक नया जोश भरने के लिए काफी है. उद्धव ठाकरे के ऊपर सरकार में मुख्यमंत्री पद संभालते ही सेक्युलर बन जाने और हिंदुत्व की विचारधारा से हट कर चलने का आरोप लगने लगा है . तमाम लोग उनके समय को हिन्दू हृदय सम्राट बाला साहब ठाकरे के समय से तुलना कर के फर्क बताने लग गये हैं. ऐसे में उद्धव ठाकरे ने भगवान श्रीराम के जन्मस्थल का दौरा किया है.

पवित्र अयोध्या के दौरे के समय में उनका उनके मुखपत्र सामना के माध्यम से छापा गया बयान गूँज गया है पूरे भारत भर की राजनीति में. उद्धव ठाकरे से जब उनकी विचारधारा के बारे में सवाल किया गया तब उन्होंने कहा कि वो सिर्फ भारतीय जनता पार्टी से अलग हुए हैं, न कि हिंदुत्व की विचारधारा से. उद्धव ठाकरे ने स्पष्ट रूप से सामना के माध्यम से कहा कि उनकी हिंदुत्व की विचारधारा न ही वर्तमान में बदली है और न ही भविष्य में बदलने वाली है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, पूर्व सहयोगी दल भाजपा पर कटाक्ष करते हुए शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में कहा कि भगवान राम और हिंदुत्व किसी एक राजनीतिक दल की संपत्ति नहीं है। सामना में कहा गया है, मुख्यमंत्री ठाकरे के अयोध्या दौरे का स्वागत किया जाना चाहिए क्योंकि वह भगवान श्री राम के चरणकमलों में सरकार द्वारा किए गए कामों के पुष्प अर्पित कर रहे हैं। संपादकीय में कहा गया है कि ठाकरे की अयोध्या यात्रा को लेकर उनके राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों ने कई सवाल खड़े किए। इसमें कहा गया है, कोई भी सरकार का समर्थन कर सकता है लेकिन उद्धव ठाकरे और शिवसेना बाहर तथा अंदर से एक जैसे ही रहेंगे।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share