आखिरकार महाराष्ट्र में बन गई बात.. शिवसेना, एनसीपी तथा कांग्रेस तीनों ने किये CMP पर हस्ताक्षर


महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर चल रही सियासी तिकड़मबाजी के बीच बड़ी खबर सामने आ रही है. खबर के मुताबिक़, शिवसेना, एनसीपी तथा कांग्रेस के बीच सरकार गठन को लेकर सहमति बन गई है. कांग्रेस वर्किंग कमेटी (CWC) की बैठक के दौरान महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर ये फैसला लिया गया है. सूत्रों के अनुसार सरकार गठन के फॉर्मूले पर तीनों पार्टियों की मुहर लग गई है. शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस के नेताओं ने कॉमन मिनिमम प्रोग्राम (CMP) पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.

बनेगी एक समन्वय समिति

जानकारी के मुताबिक़, इसके साथ ही एक समन्वय समिति का निर्माण भी किया जा रहा है जो सरकार के कामकाज पर नजर रखेगी. इस दौरान यह बताया जा रहा है कि कांग्रेस को विधानसभा अध्यक्ष और डिप्टी सीएम के पद मिलेंगे. सूत्रों से ये भी जानकारी मिली है कि शिवसेना तथा एनसीपी का ढाई ढाई साल का सीएम होगा तथा कांग्रेस की तरफ से अशोक चव्हाण डीप्टी सीएम होंगे. अब ये देखना ये होगा कि संजय राउत कहते रहे हैं कि शिवसेना का सीएम 5 साल के लिए होगा वो हो पाता है या नहीं ?

सूत्रों के अनुसार तीनों पार्टियों के इस गठबंधन का नाम महा विकास आघाडी होगा. इससे पहले शिवसेना ने गठबंधन का नाम महा‌ शिव आघाडी सुझाया था लेकिन कांग्रेस और एनसीपी दोनों ही इस नाम को लेकर सहमत नहीं थे. दोनों ही पार्टियां ये नहीं चाहती थीं कि गठबंधन में किसी भी पार्टी के नाम को शामिल किया जाए. कांग्रेस और एनसीपी की बैठक के बाद शुक्रवार को शिवसेना के साथ एक बार फिर बैठक की जाएगी. तीनों पार्टियों के बैठक के साथ ही सरकार गठन के संबंध में घोषणा कर दी जाएगा. वहीं बताया जा रहा है कि तीनों पार्टियों के गठबंधन में सरकार का निर्माण झारखंड चुनावों के पहले चरण से पहले ही कर दिया जाएगा.

इसी बीच मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार संजय राउत ने राज्यपाल से मिलने की बात कही है. उन्होंने कहा कि राज्‍यपाल भगत सिंह काश्यारी से मिलने का शनिवार को समय लिया जाएगा. इसके बाद कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के नेता अपने विधायकों का समर्थन पत्र राज्यपाल को सौंपेंगे. इसके साथ ही एक बार फिर मुख्यमंत्री पद की बात दोहराते हुए उन्होंने कहा कि सीएम पद के लिए ढाई-ढाई साल के किसी भी फॉर्मूले पर अभी तक कोई बातचीत नहीं की गई है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share