Breaking News:

राहुल गांधी के मोदी के खिलाफ “डंडे से पिटाई” वाले बयान के बाद हिंसक हुई कांग्रेस व आप पार्टी.. संसद में केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन पर हमले का प्रयास व दिल्ली में गिरिराज सिंह को बंधक बना कर मॉब लिंचिंग


दिल्ली में चुनाव की पूर्वसंध्या पर जिस प्रकार से कांग्रेस और आम आम आदमी पार्टी ने अचानक ही अपने एक नए रूप को दुनिया के आगे रखा उसको देख कर कोई भी हैरत पर पड़ सकता है. अभी कुछ समय पहले ही की बात है जब राहुल गांधी ने एक सार्वजनिक मंच से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 6 माह बाद डंडे से मारे जाने का एलान किया था. खुद प्रधानमंत्री ने संसद में राहुल गांधी की इस चुनौती को स्वीकार करते हुए खुद को मजबूत करने की बात कही थी जिस पर कांग्रेस ने उस समय बेहद सख्त तेवर प्रधानमंत्री की मौजूदगी में दिखाए थे.

अब राहुल गांधी की दी गई समय सीमा व उस एलान के बाद न सिर्फ उनकी कांग्रेस पार्टी बल्कि उनकी विचारधारा से मिलती जुलती पार्टियों में भी उसका असर साफ दिखाई दे रहा है..विदित हो कि राहुल गांधी के इस एलान के बाद संसद में जब इसका विरोध अपने संतुलित माने जा सकने वाले बयान से केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने किया तो उनको ही नही देश को भी हैरत में डाल देने का वाकया सामने आया..प्रश्नकाल में जब राहुल गांधी के सवाल का जवाब देने से पहले स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा- राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री के खिलाफ जिस अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है, वह उसकी निंदा करते हैं।इतना सुनने के बाद ही विपक्षी कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस, द्रमुक और अन्य सांसद अपनी सीटों पर खड़े हो गए। सभी लोग हर्षवर्धन के इस बयान की आलोचना करने लगे। इसी बीच एक सांसद आक्रामक ढंग से डॉ. हर्षवर्धन के बहुत नजदीक आ गए. कांग्रेस सांसद मानिकम टैगोर के इस कृत्य को डॉ हर्षवर्धन ने गलत बताते हुए खुद पर हमले का प्रयास बताया है.

दूसरी तरफ केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह दिल्ली में मॉब लिंचिंग के शिकार होते होते बचे.. आम आदमी पार्टी के विधायक द्वारा जुटाई गई भारी भीड़ उन्मादी बातें कहते हुए एक शो रूम से उन्हें निकलने की चुनौती दे रही थी और उनका सुरक्षा गार्ड उस भीड़ को जैसे तैसे काबू कर रहा था.. भीड़ गिरिराज सिंह को गालियां भी दे रही थी और बाहर निकलने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी भी.. केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह शांति से शोरूम में बैठे.  गिरीराज सिंह की हिंदुत्व समर्थक छवि के चलते आप विधायक द्वारा जमा की गई उस भीड़ में कई ऐसे लोग भी होने बताए जा रहे हैं जो शाहीन बाग जैसे मामलो के मास्टरमाइंड हो सकते हैं.. फिलहाल मॉब लिंचिंग का शिकार बनते बनते बचे गिरिराज सिंह सुरक्षित हैं..


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share