अब तक 6 मासूमों को बना चुका था वो अपनी हवस का शिकार और तलाश में था 7वीं के.. लेकिन उससे पहले ही हुआ कुछ और

जिसने भी इस घटना के बारे में सूना उसके पैरों तले जमीन खिसक गई. जब पुलिस ने उसको गिरफ्तार कर पूंछताछ की तो उसने जो कबूलनामा किया वो दिल दहला देने वाला था. आसिफ ने कबूला है कि 6 मासूम बच्चों के साथ कुकर्म कर चुका है. मामला उत्तर प्रदेश के फर्रुखाबाद का है जहाँ पुलिस ने सीरियल रेपिस्ट को गिरफ्तार किया है. सीरियल रेपिस्ट का नाम मोहम्मद आसिफ है. एक मासूम से कुकर्म के बाद हत्या के मामले में आसिफ को गिरफ्तार किया गया.

दरअसल, बीते 20 सितंबर को फर्रुखाबाद की सदर कोतवाली क्षेत्र के एक कुएं में 10 साल के बच्चे का शव मिला था. पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में गला दबाकर बच्चे की मौत की बात सामने आई. कुकर्म की पुष्टि के लिए स्लाइड बनाकर जांच के लिए भेजी गई है. इस बीच केस का पर्दाफाश करने के लिए स्वाट टीम के इंचार्ज राजीव सिंह ने जांच शुरू की. संदिग्ध गतिविधियों के आधार पर पुलिस ने आसिफ को पकड़ा. पूछताछ में उसने बताया कि बकरी तलाशने के बहाने वह बच्चे को झांसा देकर अपने साथ जंगल में ले गया था. यहां उसने बच्चे से कुकर्म किया. बच्चे ने परिवार के लोगों से शिकायत की बात की तो वह भड़क गया और मासूम को गला दबाकर मार डाला. शव कुएं में फेंक वह लौट गया.

पुलिस पूंछताछ में दरिन्दे आसिफ ने बताया कि पिछले कई महीने से वह बच्चों से रेप करता था. 4 से 11 साल के लड़के-लड़कियों को टॉफी-बिस्किट देने के बहाने वह अपने पास बुलाता था और सूनसान जगह पर ले जाकर उनका शोषण करता था. किसी को कुछ बताने पर वह उन्हें जान से मारने की धमकी देता था. आसिफ के दावे की पुष्टि के लिए पुलिस ने मोहल्ले के कई बच्चों से अकेले में पूछताछ की तो सभी ने रोते हुए उसकी दरिंदगी की कहानी बयान की.

एसपी ने बताया कि 20 सितंबर को आरोपी आसिफ बकरी तलाशने के बहाने उजैर को अपने साथ ले गया था. इसके बाद सुनसान जगह पर उसके साथ कुकर्म करने का प्रयास किया. जब मृतक ने उसकी शिकायत परिजनों से करने की बात कही तो आरोपी ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी और हाथ बांधकर शव को कुएं में फेंक दिया. वहीं पुलिस पूछताछ में मोहल्ले की एक छह वर्षीय बच्ची ने बताया कि आसिफ ने एक माह पहले उसे अपने पास बुलाकर उसके साथ गंदी हरकत की थी, जब उसने विरोध किया था तो आरोपी ने उसके साथ गाली-गलौज की थी. एसएसपी के मुताबिक़, मामला दर्ज कर आसिफ को जेल भेज दिया गया है.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने के लिए हमें सहयोग करेंनीचे लिंक पर जाऐं


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share