Breaking News:

“श्रीराम मन्दिर निर्माण ट्रस्ट” में मुस्लिमों को शामिल करने की खबर पर सोशल मीडिया में भारी विरोध..


जैसे ही ये खबर मीडिया के कुछ माध्यमो से बाहर आई कि सदियों के संघर्ष और बलिदान के बाद भगवान श्रीराम के मन्दिर के निर्माण का जैसे ही मार्ग प्रशस्त हुआ वैसे ही मीडिया के कुछ माध्यमो से खबर आने लगी कि उस ट्रस्ट में मुस्लिम समुदाय के लोगों को भी शामिल किया जाएगा.. इस खबर के आते ही सोशल मीडिया पर अलग अलग तरह की प्रतिक्रिया सामने आने लगीं और उसमे से ज्यादातर इस खबर के खिलाफ थे .. उनका कहना था कि सिर्फ हिन्दू और वो भी धर्मनिष्ठ हिन्दू होने चाहिए उस ट्रस्ट में..

ध्यान देने योग्य है कि भारत के अन्दर कई ऐसे लोग भी हैं जो हिन्दू नाम रख कर हिंदुत्व का विरोध करते हैं. सवाल ये है कि क्या वैसे लोग श्रीराम के प्रति सद्भाव रखते होंगे ? सोशल मीडिया पर ये मांग है कि भगवान श्रीराम के मन्दिर पर एकाधिकार हिन्दू समाज का ही होना चाहिए .. ऋतुराज , जनार्दन मिश्र , यति नरसिंहानन्द जैसे कई बड़े प्रोफाइल पर ये मांग साफ़ साफ़ देखी जा रही है.. कुछ गिने चुने प्रोफाइल ही इस सम्भावित कदम का समर्थन भाईचारे का नाम दे कर कर रहे हैं लेकिन ज्यादातर कमेन्ट विरोध में ही दिख रहे..

फ़िलहाल अभी तक इस प्रकार की कोई अधिकाधिक पुष्टि नहीं हुई है और सम्भवतः ये खबर बाद में निराधार ही निकले परन्तु सोशल मीडिया का माहौल जरूर गर्म हो गया है.. इसी के साथ एक मांग ने और भी जोर पकड़ लिया है .. मीडिया रिपोर्ट के हवाले से आ रही खबर के अनुसार श्री राम जन्मभूमि न्यास ने कहा है कि अयोध्या में भगवान श्रीराम के मन्दिर की निगरानी करने वाले ट्रस्ट की अध्यक्षता खुद उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ करें..

गोरखनाथ मन्दिर ने भगवान श्रीराम के मन्दिर निर्माण की दिशा में हमेशा से बेहद अग्रणी भूमिका निभाई है .. गोरखपुर में प्रतिष्ठित गोरखनाथ मंदिर गोरक्षा पीठ का है और श्री राम मंदिर आंदोलन में इसने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। महंत श्री दिग्विजय नाथ जी , महंत श्री अवैद्यनाथ जी और अब योगी आदित्यनाथ जी श्रीराम मंदिर आंदोलन के महत्वपूर्ण अंग रहे हैं.. न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने कहा, श्रीराम जन्मभूमि न्यास चाहता है कि योगी आदित्यनाथ ट्रस्ट की अध्यक्षता करें।


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share