महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस के साथ सरकार बनाने के बाद सामने अजीत पवार.. दिया ये बड़ा बयान


महाराष्ट्र की राजनीति में शनिवार सुबह एक बड़ा उलटफेर देखने को मिला. सुबह जब देश सोकर उठा तथा टीवी खोली तो पता चला कि महाराष्ट्र में देवेन्द्र फडणवीस मुख्यमंत्री तथा अजित पवार उपमुख्यमंत्री बन चुके हैं.रातों रात बदले समीकरणों के बाद राज भवन में राज्यपाल ने मुख्यमंत्री पद की शपथ बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस को दिलाई और डेप्युटी सीएम के पद की शपथ एनसीपी नेता अजित पवार ने ली.

ये खबर सामने आने के बाद देश की सियासत में खलबली मच गई तो वहीं शिवसेना तथा कांग्रेस दंग रह गये. हालाँकि इसके बाद शरद पवार ने ये कहकर सस्पेंस पैदा कर दिया कि अजित पवार ने एनसीपी तोडकर बीजेपी को समर्थन किया है तथा वह इसमें साथ नहीं है. अब इन तमाम सवालों को लेकर अजित पवार सामने आये हैं तथा उन्होंने इस पर जवाब दिया है. अजित पवार ने कहा है कि मैंने कुछ भी छिपाकर नहीं किया है बल्कि इससे पहले शरद पवार को सब कुछ बता दिया था.

शपथ लेने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए अजित पवार ने कहा कि किसानों के समस्याओं का हल निकालने के लिए पार्टी ने बीजेपी के साथ गठबंधन किया है. उन्होंने कहा, ‘रिजल्ट आने के बाद से कोई पार्टी सरकार नहीं बना पा रही थी, महाराष्ट्र किसानों की समस्याओं समेत कई परेशानियों से जूझ रहा था. इसलिए हमने स्थिर सरकार बनाने का फैसला किया.’ उधर, शपथ लेने के बाद देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि शिवसेना ने जनादेश का अपमान किया और राज्‍य को खिचड़ी सरकार की जरूरत नहीं थी. उन्होंने कहा, ‘हमने चुनाव जीता था और शिवसेना पीछे हट गई. महाराष्‍ट्र को स्थिर शासन की जरूरत थी. इसलिए हम साथ आए हैं. हम राज्‍य को एक स्थिर सरकार देंगे.’


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share