Breaking News:

CAA पर सीएम योगी के बयान पर सियासी घमासान.. बोले- महिलाओं को धरने पर बैठा खुद रजाई में बैठे में पुरुष


विपक्षियों द्वारा नए नागरिकता संशोधन अधिनियम 2019 (CAA) के विरोध में किये जा रहे धरना प्रदर्शनों पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एक बयान के बाद सियासत गरमा गई है. CAA के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शनों पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि पुरुष घरों में रजाई में सो रहे हैं और महिलाएं धरने पर बैठी हैं. महिलाएं कह रही हैं कि पुरुषों ने कह दिया है कि वह अक्षम हो गए हैं. सीएम योगी के इस बयान की विपक्ष ने आलोचना की है.

उत्तर प्रदेश के कानपुर में नागरिकता संशोधन अधिनियम  CAA के समर्थन में आयोजित की गई रैली में भारी भीड़ को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने कहा कि शरण में आने वाली की रक्षा करना भारत की परंपरा रही है. जिन अल्पसंख्यकों पर अत्याचार हो रहा है उनके लिए कानून है. जो विरोध कर रहे हैं उनके लिए हिन्दू, ईसाई, सिख महत्वपूर्ण नहीं हैं. अब कांग्रेस के लिए ईसाई भी महत्वपूर्ण नहीं है. वह कहती है कि आईएसआई के लोग महत्वपूर्ण हैं.

सीएम योगी ने कहा कि अब आदमी घर में रजाई में सो रहा है और महिलाएं धरने पर बैठी हैं. महिलाएं कहती हैं कि पुरुषों का कहना है अब हम अक्षम हो चुके हैं, आप धरने पर बैठो जाकर. कांग्रेस, सपा, बसपा के ऐसे लोगों को शर्म आनी चाहिए. हिंसक वारदातों पर की गई कार्रवाई के बारे में बात करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि लोकतंत्र में शांति से धरना प्रदर्शन करने का सबका हक है लेकिन कोई सार्वजनिक संपत्ति का नुकसान करेगा तो वसूली होगी.

योगी ने आगे चेतावनी देते हुए कहा कि यूपी की धरती पर कश्मीर वाले आजादी के नारे लगाने पर देशद्रोह का केस लगेगा. सीएम योगी ने कहा कि आज विपक्ष दुश्मनों की भाषा बोल रहा है. जब पीएम ने कह दिया है कि सीएए का एनआरसी से संबंध नहीं है फिर भी लोग अपनी महिलाओं और बच्चों को आगे भेज रहे हैं. जैसे उनके बस में कुछ करने को नहीं है. अब हमें मौन नहीं रहना है. महाभारत में द्रोपदी के चीर हरण का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि अपराध में हर सहयोगी भी दोषी होता है. हमें अब मोदीजी के अभियान में लगना है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share