सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला- अयोध्या श्रीराम की है, बनाया जाएगा प्रभु श्रीराम का भव्य मंदिर


जिस पल का देश ही नहीं बल्कि दुनिया के हिन्दुओं को सदियों से इन्तजार था, वो पल आखिरकार आ ही गया. आज अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ़ हो गया. आज सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला सुनाते हुए अयोध्या में मुस्लिम पक्ष के दावे को सर्वसम्मति से खारिज करते भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण का आदेश दिया. जैसे ही सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या मामले में श्रीराम मंदिर के पक्ष में फैसला सुनाया, समस्त हिन्दुस्तानी खुशी से झूम उठे तथा इस ऐतिहासिक फैसले के लिए सुप्रीम कोर्ट का धन्यवाद किया.

सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में साफ़ कर दिया कि मुस्लिम पक्ष विवादित जमीन पर अपना दावा साबित नहीं कर पाया. सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि ये सर्वविदित मान्यता है कि अयोध्या श्रीराम की जन्मभूमि है. इसके साथ ही कोर्ट ने अपने फैसले में जो सबसे महत्वपूर्ण बात कही वो ये थी कि मीर बाकी ने बाबरी मस्जिद बनवाई थी लेकिन वो मस्जिद खाली जमीन पर नहीं बनवाई गई थी. सुप्रीम कोर्ट ने ये भी कहा कि ASI की रिपोर्ट के अनुसार, विवादित जमीन पर मंदिर के अवशेष पाए गये हैं तथा वहां किसी मस्जिद या ईदगाह का सबूत नहीं है.

इसके साथ ही कोर्ट ने ये भी कहा कि विवादित ढांचा गैर इस्लामिक था. सुप्रीम कोर्ट की यही वो टिप्पणी थी जिससे ये बात साफ़ हो गई थी कि अब फैसला श्रीराम मंदिर निर्माण के पक्ष में ही आएगा. इसके बाद कोर्ट ने अपने फैसले में आदेश दिया कि विवादित जमीन रामलला विराजमान को दी जाए तथा यूपी सरकार से सहयोग से केंद्र सरकार 3 महीने के अंदर मंदिर निर्माण के लिए ट्रस्ट बनाये. कोर्ट ने ये भी कहा है कि अयोध्या में ही कहीं मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने के लिए 5 एकड़ जमीन दी जाए.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...