Breaking News:

भारत-बांग्लादेश सीमा पर BSF को मिली लंबी सुरंग, खड़े हुए कई तरह के सवाल

भागलपुर:  भारत -बांग्लादेश सीमा से
सटे किशनगज इलाके में एक 80 मीटर लंबी सुंरग मिली है। इस सुरंग की
उचाई लगभग 6 फीट है और चौडाई लगभग 5 फीट है। इस सुरंग की खोज ने देश की सुरक्षा मे सेंध लगाने वालो के
इरादों पर पानी फेर दिया है।

आपको बता दें कि सुरंग पश्चिम बंगाल के उत्तर दिनाजपुर जिले के चोपड़ा थाना अंतर्गत
फतेहपुर बीओपी इलाके तक खोदी गई है। इस इलाके की सुरक्षा की जिम्मेदारी बीएसएफ की 139वीं बटालियन के पास
है। सेक्टर मुख्यालय के जी ब्रांच द्वारा
जुटाई गई सूचना के आधार पर चाय बगान के बीचो-बीच खोदी जा रहे सुरंग का उद्भेदन
सोमवार देर रात किया गया। पूरे मामले से बीएसएफ मुख्यालय और गृह मंत्रालय को अवगत
कराया गया है।  सीमा से सटे इस इलाके में इतना लंबी-चौडी़
सुरंग मिलना ही बहुत बड़ी बात है और इसने बीएसएफ के लिए कई तरह के सवाल भी खडे़ कर
दिए है वैसे बीएसएफ इस सुरंग का मिलना खुद के लिए एक बहुत बडी़ कामयाबी मान रही
है।

अधिकारियों का कहना
है कि आमतौर पर इस तरह की सूचना स्थानीय पुलिस या भारत सरकार की एजेंसियों के
माध्यम से मिलती है। इस बार यह कामयाबी बीएसएफ की आंतरिक
खुफिया एजेंसी ने जुटाई और सुरंग का उद्भेदन किया। सुरंग मिलने की सुचना  मिलते ही बीएसएफ और अन्य सभी सुरक्षा एजेंसिया
सतर्क हो गई हे और कई अधिकारियो के तो हाथ -पांव 
भी फूलनें लगें। सुकमा में हुए नक्सली हमले और र्गहमंत्री के सहरसा दौरे के
दौरान बीएसएफ डीआइजी समेत सभी अधिकारी सुरंग का पता लगाने में जुट गए। इसके साथ ही
सुरंग का पता लगते ही इलाके को भी सील कर दिया गया। 

वहीं दूसरी ओर 139 वीं बटालियन के जवानों ने इलाके में गश्त तेज कर सभी संदिग्ध
गतिविधियों पर नजर रखनी शुरु कर दी है। और वहीं मिली जानकारी के अनुसार सुरंग
भारतीय इलाके में खोदी जा रहीं थी और यदि इसका समय रहते पता नहीं चलता तो कोई भी
अनहोनी हो सकती थी   हालांकि बीएसएफ अधिकारियों का कहना है
कि प्रथमदृष्टया यह मामला पशु तस्करी से जुड़ा हुआ प्रतीत होता है। वहीं, अधिकारी यह भी बताते
हैं कि अन्य कारणों को लेकर भी बीएसएफ जांच कर रही है। अभी तक इस मामले में किसी
की गिरफ्तारी नहीं हुई है।  

वहीं
बीएसएफ के डीआइजी ने कहा है कि भारत – बांग्लादेश सीमा पर एक सुरंग मिली है हालाकि
यह सुरंग अभी सीमा तक नहीं पहुंच सकी है फिलहाल सुरंग के साथ साथ इलाके को भी सील
कर दिया गया है। और ये माना जा रहा है कि ये मामला पशु तस्करी से सम्बंधित है
लेकिन अभी इस ओर जांच चल रही है।

 

Share This Post