इस क्रिकेटर ने बलिदानियों के लिए जो किया वो अकसर प्रवचन देने वाले फिल्म स्टार कभी नहीं कर सकते


नई दिल्ली : क्रिकेटर गौतम गंभीर सुकमा में नक्सली हमले में बलिदान देने वाले सीआरपीएफ ने जवानों के परिवारों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। लेकिन, वे इस बात का ढिंढोरा नहीं पीटना चाहते। उन्होंने वीरगति को प्राप्त हुए 25 सीआरपीफ जवानों के बच्चों की पढ़ाई का खर्च उठाने की घोषणा की है।

वे गौतम गंभीर फाउंडेशन के जरिए मदद के लिए आगे आए हैं। उन्होंने एक अखबार में कॉलम लिखकर कहा कि बुधवार सुबह मैंने अखबार उठाए, तो दो शहीद जवानों की बेटियों की तस्वीरें देखीं। एक अपने शहीद पिता को सल्यूट कर रही थी, जबकि दूसरी तस्वीर में युवती को उसके घरवाले सांत्वना दे रहे थे। गंभीर ने आगे लिखा कि उन्होंने यह फैसला शहीद हुए जवानों के परिवार की तस्वीरें देखकर लिया।

उन्होंने यह भी लिखा कि देश के लिए अपनों को खो देना और क्रिकेट मैच हार जाना दोनों अलग-अलग चीजें हैं और दोनों की कभी तुलना नहीं की जा सकती। गौरतलब है कि 24 अप्रैल को छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलवादियों ने सीआरपीएफ की एक टीम पर हमला किया था। उस हमले में 25 जवान शहीद और छह गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे। खबरों के मुताबिक, लगभग 300 नक्सलवादियों ने मिलकर इस हमले को अंजाम दिया था।    


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...