Breaking News:

सफलता पाने के लिए जरूरी है… इन बातों का ध्यान रखना..

जो भी काम करें,  उसे पूरे
मन के साथ करें। तो जीवन की परेशानी अपने आप खत्म हो जाती
है। एक शब्द होता है सन्यास जिसका मतलब होता है रोम-रोम में शांति समा जाना। मन
का शान्त होना। अगर मन की शांति की ढूड़ रहे हैं तो एक शब्द हमेशा ध्यान रखें
स्वाद।जीवन में जिन भी
क्षेत्रों में स्वाद बनाए रखना है उनमें से एक है रिश्तों
की नीव। आपका कोई परिवार
जरूर होगा और जो हमेशा रिश्तों के सहारे चलता है।




हम बहुत बार परिवार के साथ रहते हुए उपयोग
मे आने वाली वस्तुओं को देखने लगते हैं। जैसे मकान
,
गाड़ियां, लोग और उनकी सुविधाएं,
इन सब का होना ही परिवार नहीं होता है। अगर परिवार में रिश्ते पर ध्यान नही दें पा रहे है। तो आप किसी
धर्मशाला या होटल में
ठहरे हुए हैं। जिसका मतलब यहा किसी से आपका कोइ मतलब नही है। वहां
बहुत से लोग आ-जा रहे हैं और परिवार क के सदस्य भी इसी तरह
दिखने लगते हैं। रिश्तों
को देखने के लिए खास ध्यान जरूरत होती है
,
इसीलिए साधु-संतों ने
परिवारों के लिए एक व्यवस्था बनाई है कि। शाम रे समय घर में
दीय जरूर जलना चाहिए।
उसकी रोशनी और सुगंध आपको कुछ दिखाएगी
,
कुछ महसूस कराएगी। मन व घर को
शुद्ध करेगा। रिश्तों को महसूस करने के लिए भी प्रकाश चाहिए। शाम के समय जो
दीये जलाते हैं उनकी रोशनी में अपनापन देखिए तुलसी
के पौधे के पास जलाए जाने वाले दीये में
अपने प्रियजन की छवि
, उसके साथ
गुजारे अहसास व समय को याद  करके देखिए।



केवल दीया जलाकर दूर हो जाना काफी नही
है। शाम समय जब भी दीया
जलाएं, तो उसकी लौ को ध्यानसे देखे और एक काहानी की तरह पूरे परिवार को महसूस
करे। आपको तब मालूम होगा कि
 प्रेम
का अहसास क्या होता है। आपका प्रेम बढने लगेगा। और अचानक परेशानिया कम होने लगेगी।
यह
प्रकाश आपको सचमुच अपने परिवार के लोगों के साथ होने का सुख
महसूस
होता होगा।

 

Share This Post