शत-शत नमन है स्वर्ग में बैठे हिंदुत्व की प्रेरणा अशोक सिंहल जी को.. जिनके अनगिनत प्रयासों के कारण ही खुला अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण का रास्ता


अशोक सिंहल जी भारतीय राजनीति का वो नाम है जिन्होंने अपने जीवन का हर एक पल तथा अपने शरीर का हर एक कण धर्म को समर्पित कर दिया, हिंदुत्व को समर्पित कर दिया, प्रभु श्रीराम के काज को पूरा करने के लिए समर्पित कर दिया. विहिप के पूर्व अंतर्राष्ट्रीय प्रमुख स्व. अशोक सिंहल जी ही हिंदुत्व की वो ज्वलंत प्रतिमा थे जिन्होंने अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण की चेतना को जन-जन तक पहुंचाया. तमाम बाधाओं तथा परेशानियों से जूझते हुए अशोख सिंहल जी आजीवन अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए संकल्पित रहे.

आज जब अशोक सिंहल जी इस दुनिया में नहीं हैं तब सुप्रीम कोर्ट ने ऐतिहासिक फैसला दिया है कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण किया जाएगा. सुप्रीम कोर्ट जब ये फैसला सुना रहा था उस समय देश तो टीवी पर इस फैसले को जानने को लालायित था ठीक उसी समय अशोक सिंहल जी भी स्वर्ग से इस ऐतिहासिक पल पर नजरें गढ़ाए हुए थे. जैसे ही सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में ये कहा कि विवादित जमीन पर सुन्नी वक्फ बोर्ड का कोई दावा नहीं बनता है तथा ये जमीन रामलला विराजमान को दी जायेगी, निश्चित रूप से अशोक सिंहल जी भी स्वर्ग में मुस्कुरा उठे होंगे.

जिस कार्य के लिए अशोक सिंघल जी ने अपना सर्वस्व समर्पित कर दिया था, वो कार्य उस समय पूरा हुआ है जब अशोक सिंहल जी हमारे बीच नहीं हैं. आज सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद जहाँ देश खुशी मना रहा है तो वहीं श्रीराम मंदिर निर्माण आन्दोलन के नायक अशोक सिंहल जी को भी याद कर रहा है, उनके संघर्षों को नमन कर रहा है, जिसके कारण ही श्रीराम मंदिर निर्माण आन्दोलन की गूँज घर घर तक पहुँची, आम जनमानस इस आन्दोलन से जुड़ा तथा आज लंबे संघर्षों के बाद अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हुआ.

आज जब ये तय हो गया है कि अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर का निर्माण होगा, श्रीराम लला का वनवास ख़त्म होगा तथा रामलला तंबू से निकलकर मंदिर में विराजमान होंगे.. उस समय सुदर्शन परिवार भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण आन्दोलन के सेनापति अशोक सिंहल जी को शत-शत नमन करता है, उनको श्रद्धांजलि समर्पित करता है.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...