एक ऐसा लड़ाकू विमान जिसे सिर्फ भारत को बेचेगा अमेरिका.. विदेश नीति की बड़ी सफलता

अमेरिकी विमान कंपनी लॉकहीड मार्टिन ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि कि अगर भारत की ओर से 114 लड़ाकू विमानों की खरीद के लिए उसे नए एफ-21 लड़ाकू विमानों का अनुबंध मिलता है तो दूसरे देशों को इनकी बिक्री नहीं की जाएगी.  खरीदारी सौदे के लिए व्यापक स्तर पर अमेरिकी, यूरोपीय और रूसी कंपनियों से स्पर्धा के पहले अमेरिकी विमान कंपनी ने इस तरह की पेशकश की है.

1 मुसलमान ने फेसबुक पर सिर्फ इतना लिखा था – “आज हँस लो, कल रोना पड़ेगा” .. उसके बाद जो हुआ वो किसी ने सोचा भी न था

अमेरिकी कंपनी लॉकहीड मार्टिन के रणनीतिक एवं कारोबार विकास के उपाध्यक्ष विवेक लाल ने कहा कि अगर भारत, एफ-21 का अनुबंध करता है तो वह वैश्विक लड़ाकू विमानों के तंत्र का अहम हिस्सा बन जाएगा जो कि 165 अरब डॉलर का बाजार है. लाल ने पीटीआई को दिए साक्षात्मकार में बताया कि एफ-21 लड़ाकू विमान को भारत की वायुसेना के हिसाब से तैयार किया गया है. ये वायु सेना के 60 से ज्यादा स्टेशनों से परिचालन के लिए डिजाइन किया गया है. इस विमान में सुपीरियर इंजन मैट्रिक्स, बेतरीन तकनीक के युद्धक क्षमता और रॉकेट की क्षमता शामिल है. उन्होंने कहा कि हम इस तकनीक के विमान दुनिया में किसी और को नहीं बेचेंगे.

टीपू सुल्तान के जयकारे लगाती कांग्रेस ने अब राजस्थान में वीर सावरकर के खिलाफ लिखवाया ये सब.. आक्रोशित हुआ हिन्दू समाज

बता दें कि पिछले महीने वायु सेना ने करीब 18 अरब डॉलर की लागत से 114 लड़ाकू विमान खरीद के लिए आरएफआई (सूचना के लिए अनुरोध) या शुरूआती निविदा जारी की थी. इसे हालिया वर्षों में सेना की सबसे बड़ी खरीद के तौर पर देखा जा रहा है. सौदे के शीर्ष दावेदारों में लॉकहीड का एफ-21, बोइंग का एफ/ए-18, दसॉल्ट एविएशन का राफेल, यूरोफाइटर टायफून, रूसी लड़ाकू विमान मिग 35 और साब का ग्रिपेन शामिल है.

मॉर्डन लड़कीं जिद कर रही थी पति से शिखा कटवाने की.. पति बोला – “तलाक मंजूर, पर संस्कार नही त्याग सकता”

आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि वायु सेना बालाकोट स्ट्राइक और क्षेत्र में उभरती सुरक्षा स्थिति के मद्देनजर बड़े सौदे को अंतिम रूप देने के लिए काम कर रहा है. लाल ने कहा कि अगर लॉकहीड को अनुबंध मिला तो वह टाटा ग्रुप के साथ एफ-21 अत्याधुनिक निर्माण केंद्र की स्थापना करेगी. इससे भारत को देश के रक्षा निर्माण के सर्वांगीण विकास तंत्र को तैयार करने में भी मदद मिलेगी तथा भारत भारत रक्षा के क्षेत्र में बड़ी ताकत बनकर उभरेगा.

एफ-21 की खासियत 

  • कम ईंधन में ज्यादा दूरी तक और ज्यादा ताकत देने वाला विमान
  • यह नेटवर्किंग के मामले में भी विशेष विमान है
  • इससे लक्ष्य पर बेहतर तरीके से हमला करना संभव होगा
  • इसमें एडवांस्ड इलेक्ट्रॉनिक वारफेयर सिस्टम लगा है
  • इसे भारत की जरूरतों के मुताबिक तैयार किया गया है
  • जमीन और आकाश दोनों पर कार्रवाई करने में सक्षम

कश्मीर में सेना पर पत्थरों की बौछार.. बुरी तरह घायल हुए राष्ट्र के 50 रक्षक.. तथाकथित सेकुलरिज़्म वाले पत्थरबाजों के साथखड़े

कहा जा रहा है कि एफ-21 की बाहरी संरचना एफ-16 जैसी लग सकती है लेकिन दोनों में बड़ा अंतर है. इसमें लगा रडार एफ-16 की तुलना में दो गुना ज्यादा क्षमतावान है. इसे भारत की जरूरतों के हिसाब से तैयार किया गया है. एफ-21 एयर फ्रेम, युद्धक क्षमता, इंजन मेट्रिक्स, इंजन विकल्पों की उपलब्धता सहित विविध पहलुओं के हिसाब से बिल्कुल अलग है. लॉकहीड ने फरवरी में बेंगलुरू में एरो इंडिया शो के दौरान एफ-21 का अनावरण किया था. कंपनी ने कहा कि वह वायु सेना की विशिष्ट जरूरतों को पूरा करेगी.

14 मई – जन्मजयंती छत्रपति संभाजी महाराज .. अंग अंग काटते रहे मुगल मुसलमान बनाने के लिए, पर हर घाव से आवाज आई – “जय भवानी”

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने व हमें मज़बूत करने के लिए आर्थिक सहयोग करें।

Paytm – 9540115511

Share This Post