देवबंद में सहारनपुर पुलिस की ये कड़ी कार्यवाही संदेश दे रही है कि UP में नहीं चलेगा किसी भी प्रकार का उन्माद. न्याय क्या होता है इसे दिखाया SSP दिनेश कुमार ने


अयोध्या फैसले से भी पहले SSP दिनेश कुमार पी के नेतृत्व में सहारनपुर पुलिस जिस प्रकार से चौकस और सतर्क थी उसमे जरा सा भी ढिलाई नहीं देने का सुखद प्रतिफल उस समय देखने को मिला जब नागरिकता संसोधन बिल का असंवैधानिक रूप से विरोध करने के लिए देवबंद में सहारनपुर मुज़फ्फरनगर हाईवे पर जमा हुआ कुछ उपद्रवियों को न सिर्फ फ़ौरन ही समय रहते काबू कर लिया गया बल्कि उनके मन में चल रहे तमाम मंसूबों को पूरी तरह से असफल कर दिया गया.

भले ही इस बिल के विरोध में जाम लगने की अन्दर ही अन्दर लम्बी तैयारी की गई थी लेकिन इसकी सूचना पाते ही पुलिस सक्रिय हो गई और बिना किसी बड़े नुकसान के न सिर्फ उपद्रवियों को काबू किया बल्कि उनके ऊपर अब कार्यवाही भी शुरू कर दी है.. इस मामले में अब तक लगभग 250 उपद्रवियों पर केस दर्ज कराया गया है और आगे की विधिक कार्यवाही भी शुरू कर दी गई है. कुल मिला कर सहारनपुर पुलिस न सिर्फ देवबंद को बल्कि प्रदेश भर को एक सन्देश देने में कामयाब हो गई है कि किसी भी प्रकार का उन्माद किसी भी रूप में सहा नहीं जाएगा.

सहारनपुर में अपनी तैनाती के बाद न सिर्फ पुलिस विभाग बल्कि उसके चलते आम जनमानस में भी आमूलचूल बदलाव करने वाले SSP दिनेश कुमार पी ने इस मामले में सख्ती दिखानी शुरू की है तो उन्मादियो और उपद्रवियों के हौसले पस्त होते दिखाई दे रहे हैं. सहारनपुर से कई बंगलादेशी गिरफ्तार कर चुकी पुलिस ने लगभग 250 लोगो पर अज्ञात में मुकदमा दर्ज किया है.

ध्यान देने योग्य है कि संसद में पारित नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ देवबन्द में विरोध का स्तर जैसे ही असंवैधानिक रूप में आया पुलिस सक्रिय हो उठी. विरोध के इस रूप मे मदरसे के छात्रों ने दिल्ली-देहरादून हाइवे पर शाम की नमाज अदा की और उसके बाद जाम लगाकर हंगामा किया था. जब पुलिस ने इस मामले में प्रभावी कार्यवाही शुरू की तब दारुल उलूम के मोहतमिम का बयान आने लगा कि जाम लगा कर हंगामा करने वाली भीड़ दारुल उलूम से नहीं बल्कि बाहरी लोगों की है.
अब देवबंद के मोहतमिम का कहना है कि ऐसी हरकत कर के कुछ ओग जो दारुल उलूम की छवि खराब करना चाहते हैं. बताया ये भी जा रहा है कि इस भीड़ ने पथराव भी किया था लेकिन पुलिस की सक्रियता से कोई जन या धन की हानि नहीं हो पाई थी. जब पुलिस ने इस मामले में एक्शन लेना शुरू किया तब दारुल उलूम देवबंद के मोहतमिम (वीसी) अब्दुल कासिम नौमानी ने रात में बयान जारी कर कहा कि दारुल उलूम समेत देवबंद में जितने भी मदरसे हैं, उनसे इन प्रदर्शन करने वाले छात्रों का कोई ताल्लुक नहीं है.
किसी भी प्रकार के असंवैधानिक व् गैरकानूनी कार्य को न होने देने के लिए संकल्पित सहारनपुर पुलिस के प्रमुख वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दिनेश कुमार पी ने बताया कि कल देवबंद में मदरसा छात्रों के द्वारा किए गए प्रदर्शन, रोड जाम, पथराव मामले में पुलिस ने सख्त कदम उठाते हुए वीडियोग्राफी और फोटोग्राफी के मुताबिक कुछ लोगों को चिन्हित किया है साथ ही 250 से अधिक लोगों के ऊपर अज्ञात में मुकदमा दर्ज किया है. जल्द ही इस मामले में आगे की प्रभावी विधिक कार्यवाही की जायेगी.. फ़िलहाल पुलिस की सक्रियता से सहारनपुर  हालात एकदम सामान्य है और आम जनमानस सहारनपुर पुलिस की कार्यवाही से पूरी तरह से संतुष्ट है.
रिपोर्ट –
पंकज चौधरी
सुदर्शन न्यूज़ – सहारनपुर

सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share