विश्व बैंक प्रमुख का मोदी पर आया बयान गौरवान्वित करेगा प्रत्येक भारतवासी को… खिल उठे कारोबारियों के चेहरे

विश्व बैंक प्रमुख जिम यांग किम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को लेकर ऐसा बयान दिया है जिसे सुनकर हर हिन्दुस्तानी खुद को गौरवान्वित महसूस करेगा. विश्व बैंक प्रमुख जिम यांग किम ने कहा है कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जैसे नेता दुनिया में बहुत कम है. जिम यांग किम ने एक अंग्रेजी अखबार में प्रकाशित पीएम मोदी हैज टेकन सीरियस बिजनेस रेग्युलेट्री रीफॉर्म्स नामक शीर्षक वाले लेख में  ये सारी बातें कहीं हैं. प्रधानमन्त्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के बारे में विश्व बैंक प्रमुख का बयान सुनकर कारोबारियों के चेहरे खिल उठे हैं.

विश्व बैंक के प्रमुख  जिम यॉन्ग किम ने एक आलेख में लिखा- नरेंद्र मोदी सरीखे नेता दुनिया में बहुत कम ही हैं जिन्होंने कारोबार संबंधी नियामक सुधारों को गंभीरता से लिया है। मैं पहली बार उनसे अक्टूबर 2014 में मिला था, जिससे कुछ ही दिनों पहले उस साल की डीबी रिपोर्ट आई थी। 189 देशों में भारत 142वें पायदान पर था। भारत में तब कारोबार शुरू करना व उसे चलाना बेहद कठिन था। मसलन एक उद्यमी को बिजली के लिए सात आधिकारिक प्रक्रियाओं से गुजरना होता था, जिसमें कि तकरीबन 100 दिन लगते थे और देश की प्रति व्यक्ति से करीब पांच गुना खर्च आता था।

अंग्रेजी अखबार में ” पीएम मोदी ने कारोबार संबंधी नियामक सुधारों को गंभीरता से लिया है  ”नामक शीर्षक वाले लेख में विश्व बैंक प्रमुख ने कहा- “मोदी भारत की रैंक से निराश थे। उन्होंने शीर्ष 50 देशों में आने को लेकर अपना दृष्टिकोण साझा किया और वर्ल्ड बैंक समूह से इस सपने को साकार करने के लिए जानकारी व सलाह की मांग की थी। भारत ने उसके बाद कारोबारी नियमों में खासा सुधार किया है । उदाहरण के तौर पर इस साल की डीबी रिपोर्ट देखें तो 2014 की तुलना में एक उद्दमी को बिजली का कनेक्शन पाने में आधी प्रक्रिया का पालन करना पडता और इस काम में आधा समय ही लगता है । इन्हीं सुधारों ने भारत की रैंक उस श्रेणी में 11( 2014 में ) से उठाकर 24 कर दी।

आपको बता दें कि 31 अक्टूबर को जारी ताजा ईज ऑफ डूइंग बिजनेस इंडेक्स में भारत का रैंक 77 था जिसमें कि 23 अंकों की बढ़ोत्तरी हुई थी। पिछले साल भारत की रैंकिंग 100 थी. हाल ही में उद्योग जगत के साथ कारोबार सुगमता पर चर्चा के लिये बुलाई गई बैठक में ईज़ ऑफ़ डूइंग बिज़्नेस ग्रांड चैलेंज लॉंच करते हुए पीएम मोदी ने देश को  कारोबार सुगमता रैंकिंग में शीर्ष 50 देशों में पहुंचाने का लक्ष्य रखा. देश का उद्योग जगत भी मोदी सरकार के कारोबारी माहौल बेहतर बनाने के प्रयासों का कायल है. कारोबारियों का कहना है कि यह पीएम मोदी के लगातार और अथक प्रयासों से संभव हुआ है. गौरतलब है कि इस रैंकिंग में सुधार करने से देश में न केवल अधिक निवेश आकर्षित होगा बल्कि वृद्धि और समृद्धि भी आयेगी.

राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW