मुख्यमंत्री योगी ने भीड़ हिंसा रोकने के लिए दिए यह निर्देश और कहा..”गोपालकों को दे प्रमाण पत्र”..

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर कोई गोपालक या व्यक्ति गाय को एक से दुसरे स्थान पर ले जाता है तो गौसेवा आयोग उनको एक प्रमाण पत्र मुहैया करवाए और उसकी सुरक्षा कि जिम्मेदारी ले जिससे कि भीड़ हिंसा जैसी घटनाएँ न हो.

उन्होंने यह भी कहा है कि आयोग कोई भी चोरी छिपे हो रही गो तिस्कारी को रोके. गोवांशों को गोशालाओं में बढ़ने के बजाये उन्हें परिसर में खुला न छोड़ें. आयोग को निर्श्रित गोवंश के लिए ही पैसा दिया जायेगा. पशुधन विभाग आयोग के खाते में सीधे पैसे उपलब्ध कराये.

योगी ने गोशालाओं को आत्मनिर्भर बनने पर जोर दिया है. उन्होंने गोसेवा आयोग के सदस्य व पदाधिकारियों कि उपेक्षा पर अधिकारीयों को फटकार लगाने के साथ ही योग के अध्यक्ष व सरकारी सदस्यों का कार्यालय तीन वर्ष करने के निर्देश दिए है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि गोसेवा आयोग ने सदस्य और अध्यक्ष जिलों में जाकर गौशाला स्थल को ठीक करने का काम करें. आयोग के पदाधिकारियों को समुचित प्रोटोकॉल दिया जाये. फील्ड भ्रमण के दौरान डीएम और मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी उनके साथ रहें.

 

सुदर्शन न्यूज को आर्थिक सहयोग करने के लिए नीचे DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW