श्रीराम का मंदिर कितना भव्य होगा, इस पर योगी सरकार के मंत्री का बयान बुरा लग गया कुछ लोगों को.. पर क्यों ?


सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में मर्यादा पुरुषोत्तम प्रभु श्रीराम की जन्मभूमि पर भव्य मंदिर निर्माण का रास्ता अब साफ़ हो चुका है. हिंदुस्तान ही नहीं बल्कि दुनियाभर में रहने वाले हिंदुओं को अब उस पल का इन्तजार है जब अयोध्या में प्रभु श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण होगा. इसके बारे में योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने बड़ा बयान देते हुए बताया है कि अयोध्या में जन्मभूमि पर बनने वाला श्रीराम का मंदिर कितना भव्य और विशालकाय होगा.

जैसे ही योगी सरकार के मंत्री ने श्रीराम मंदिर निर्माण की भव्यता की परिकल्पना के बारे में बताया तो कुछ लोगों को ये अच्छा नहीं लगा तथा उन्होंने इसकी आलोचना शुरू कर दी. ये वही लोग हैं जो सुप्रीम कोर्ट में बार बार ये कोशिश कर रहे थे कि किसी भी प्रकार सुप्रीम फैसला श्रीराम मंदिर के पक्ष में न आये. लेकिन जब सुप्रीम कोर्ट ने श्रीराम मंदिर निर्माण के पक्ष में फैसला सुना दिया तो अब इन लोगों को योगी सरकार के मंत्री की उस बात से भी परेशानी हो रही है जिसमें वह ये बता रहे हैं कि श्रीराम का मंदिर कैसा होगा.

दरअसल योगी सरकार के मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा है कि यूपी सरकार मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम की नगरी अयोध्या को वेटिकन सिटी और मक्का से भी भव्य बनाये जाने की तैयारी कर रही है. उन्होंने कहा कि क्रिश्चैनिटी के लिए वेटिकन सिटी और इस्लाम के लिए मक्का को दुनिया में सबसे बड़ा तीर्थ माना जाता है. इसी तरह से हिन्दुओं के लिए प्रभु श्रीराम का जन्मस्थान अयोध्या शहर का भी योगी सरकार पुर्ननिर्माण करने जा रही है.

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि अयोध्या में इंटरनेशनल एयरपोर्ट, बस स्टेशन और रेलवे स्टेशन के साथ ही मूलभूत संसाधन मुहैया कराए जाएंगे. यहां विकास कार्यों के जरिये इसे भव्य लुक तो दिया ही जाएगा, लेकिन साथ ही इसकी पहचान, संस्कृति और मूल से कोई छेड़छाड़ नहीं की जाएगी. उन्होंने कहा कि इसके तहत अयोध्या को इंटरनेशनल लेवल पर विकसित किया जाएगा. इसे इतना खूबसूरत व भव्य लुक दिया जाएगा कि दुनिया के नक्शे में यह वेटिकन सिटी और मक्का से भी ज़्यादा महत्वपूर्ण हो जाएगी.

सिद्धार्थनाथ के मुताबिक रेनोवेशन के बाद अयोध्या समूची दुनिया में वेटिकन सिटी और मक्का से भी महत्वपूर्ण धार्मिक शहर हो जाएगा. इसे धर्म और पर्यटन दोनों ही नजरिये से सजाने-संवारने का काम जल्द ही शुरू हो जाएगा. अयोध्या को दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक शहर बनाने के लिए सरकार इंटरनेशनल कंसल्टेंट भी हायर करने जा रही है. सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा है कि अयोध्या का विकास भारतीय शहर की ही तर्ज पर किया जायेगा, लेकिन यह इंटरनेशनल सिटी से भी ज्यादा सुन्दर शहर बनेगा.


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share