मदरसे में छापा मारना इतना भी आसान नहीं था.. लेकिन जो आसान नहीं था वो कर के दिखाया शामली पुलिस ने, IPS अजय कुमार के नेतृत्व में


जैसे ही मस्जिद , मदरसे या मजार आदि का नाम आता है वैसे ही कई आँख और कान उसी तरफ घूम जाते हैं .. चाहे वो किसी भी मत या मजहब के क्यों न हों .. ये मामला तो देवबंद से बस कुछ ही किलोमीटर दूर का था जहाँ पर रेवले गेटों पर लिखा ‘सावधानी हटी , दुर्घटना घटी’ का सिद्धांत पूरी तरह से लागू था. ये लक्ष्य इतना आसान नहीं था भेदना और अर्जुन के रूप में खड़े SP शामली अजय कुमार के आगे उस मछली की आँख भेदना लक्ष्य था जो लगातार तेजी से घूम रही थी ..

एक के बाद एक शानदार उपलब्धि हासिल करती शामली पुलिस के लिए अब 4 रोहिग्य को गिरफ्तार करना एक बहुत बड़ी उपलब्धि है. इसको उपलब्धि इसलिए भी कहा जा सकता है क्योकि इसका सम्बन्ध सीधे भारत की आन्तरिक सुरक्षा से जुड़ा हुआ है और जब नाम किसी रोहिग्या का आता है तो न किसी जिले की पुलिस बल्कि प्रदेश और दिल्ली तक एक सनसनी फ़ैल जाती है. यकीनन शामली पुलिस का ये कार्य ऐसा है जो अन्य जिलों के लिए प्रेरणा बन सकता है .

एक सामान्य व्यक्ति की जानकारी में सिर्फ इतना ही होगा कि पुलिस को सूचना मिली कि 4 रोहिग्या यहाँ छिपे हैं और उसने छापा मार कर उन्हें गिरफ्तार कर लिया होगा .. पर असल सच्चाई इस से कही उलट और विपरीत है .. उत्तर प्रदेश के जिले शामली में कोई अफ्स्पा कानून नहीं लगा है कि पुलिस बिना किसी कारण के किसी को भी उठा सकती है और किसी की भी तलाशी आदि ले सकती है . ये वो प्रदेश है जहाँ मानवाधिकार वालों का सबसे ज्यादा बोलबाला है और साथ में ही अल्पसंख्यक आयोग जैसे कई अन्य संगठन .

इसके बाद इन सभी ने फर्जी प्रमाण पत्र बनवा लिया और शामली के थाना भवन क्षेत्र में रहने लगे .  लेकिन पुलिस की सतर्क निगाहें इन सभी के ऊपर लगी रहीं . जरा सी चूक होने पर पुलिस की सामान्य जांच को भी ये सभी बढ़ा चढा कर प्रताड़ना का नाम देते और खुद को भारत का नागरिक बताते जबकि वो सभी गलत थे . यद्दपि अगर पुलिस गलत साबित होती तो उसको मीडिया से ले कर राजनीति तक में लगातार मुस्लिम विरोधी होने के आरोप झेलने पड़ते.

शामली पुलिस के इन वीरों को मानवाधिकार के कटघरे में कई बार पेशी देनी पड़ती और मुंबई के बॉलीवुड तक के ट्विट झेलने पड़ते .. फिलहाल सुदर्शन न्यूज तमाम विपरीत हालातों के बाद भी कर्तव्यपथ पर अटल और अडिग रही शामली पुलिस और उसके कप्तान अजय कुमार को उनकी जांबाजी के लिए बारम्बार साधुवाद देता है जिन्होंने इंच मात्र भी कर्तव्यपथ से बिना विचलित हुए समाज और देशहित का कार्य किया.. ऐसा कार्य बाकी अन्य जनपदों ही नहीं बल्कि प्रदेशो की पुलिस के लिए एक नजीर बन सकते हैं..

 

रिपोर्ट

राहुल

सहायक सम्पादक- सुदर्शन न्यूज

नॉएडा

मो0 – 9598805228


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share