Breaking News:

कभी हिन्दू से शादी कर के गुहार लगाती मुस्लिम लड़की पहुची थी सुदर्शन न्यूज और बोली- “कोई मदद नहीं कर रहा मेरी”.. अब अचानक ही प्रेम के इतने समर्थक कैसे ? देखिये तब न्याय के लिए अकेला कैसा लड़ा था सुदर्शन न्यूज और ये सब थे खामोश


क्या कभी न्याय और नीति के भी 2 अलग अलग रूप होते हैं ? क्या दया , क्षमा , प्रेम और सौहार्द दिखाते समय मत और मजहब देखा जाना चाहिए ..? क्या दोगले व्यवहार में भी सौहार्द और सत्कर्म तलाशे जा सकते हैं . मेरे हिसाब से आप खुद कह देंगे कि कभी नहीं और किसी भी हाल में नहीं .. नारी का सम्मान सबसे प्राथमिकता होनी चाहिए .. उनके स्वतंत्रता पर कोई हस्तक्षेप भी नहीं होना चाहिए.. लेकिन उन पर सवाल जरूर खड़े होने चाहिए जो नारी के 2 हिस्से कर रखे हैं , अपनी सुविधा के अनुसार .

बरेली के विधायक की बालिग बेटी ने जब वीडियो बना कर मदद मांगी तो उसकी मदद के लिए जिस प्रकार से कई लोग आये आये जो कि स्वागत योग्य है लेकिन उन कई लोगों में ऐसे लोग भी हैं जो मौका परस्त और दोगली मानसिकता के कहे जा सकते है और उसके बाकायदा प्रमाण भी हैं .. क्या उस नाम को आप निष्पक्ष मान सकते हैं जो एक मुस्लिम लड़की की हिन्दू लड़के से शादी के बाद लगाईं जा रही गुहार पर खामोश बैठ जाए और अचानक ही हिन्दुओ के आपसी मामले में उचल पड़े और चीखना शुरू कर दे .

ऐसो को क्या समाज के हितकारी तत्व कहा जा सकता है या इन्हें विघटनकारी माना जाय . मामला जुलाई 2018 का है जब गाजियाबाद निवासिनी एक मुस्लिम लड़की ने वही के एक हिन्दू लड़के से प्रेम विवाह कर के अपना घर बसाना चाहा तो उसके पीछे कई कट्टरपंथी लग गये .. उन्होंने उसको खोज निकाल कर उसके पति सहित कत्ल करने की धमकी लड़के के घर जा कर दी.. लड़की ने आज अचानक चीख रहे तमाम लोगों के दरवाजे खटखटाए पर उसे सफलता नहीं मिली और कईयों ने इसमें रूचि तक नहीं ली .

उन्होंने उस लड़की को उसके हाल पर छोड़ दिया था और अपने बनाए कथित सेकुलर सिद्धांतो पर अटल हो कर खामोश हो गये और हिन्दूओ के आपसी मामलो की प्रतीक्षा करने लगे थे .. लड़की ने आखिरकार सुदर्शन न्यूज की शरण ली थी और सुदर्शन न्यूज ने बाकायदा एक शो कर के उन्हें सही सलामत गाजियाबाद पुलिस की अभिरक्षा में सौंपा था जिसके बाद उनके जीवन की रक्षा हो पाई थी .. वो विवाहित युगल भी आज ये देख कर हैरान है कि उनके लिये उस समय एक भी आवाज न उठाने वाले आज कैसे इतने सक्रिय हो गये ?

सुदर्शन न्यूज हर महिला के मान , सम्मान और स्वाभिमान की सुरक्षा के लिए संकल्पित और पक्षधर है. लेकिन वो दोहरे चरित्र और एकतरफा हिन्दू विरोधी मानसकिता के कुप्रचार का भी विरोधी ही . महिला चाहे बरेली की हो या गाजियाबाद की , सुदर्शन न्यूज दोनों की समान सुरक्षा का पैरवीकार है .. यहाँ आम जनता को ध्यान रखना होगा इस बात का कि वो एकतरफा हिन्दू विरोधियो की इस साजिश का शिकार न हो कर संतुलित रूप से स्वविवेक से अपना फैसला लें ..

नीचे देखिये हिन्दू लड़के से शादी कर के अपनी जान बचाने की गुहार लगाने वाली उस मुस्लिम लड़की का पीडादायक शो जिस पर आज चीख रहे तमाम लोग बर्फ जैसी ख़ामोशी में चूर थे ..-


सुदर्शन के राष्ट्रवादी पत्रकारिता को आर्थिक सहयोग करे और राष्ट्र-धर्म रक्षा में अपना कर्त्तव्य निभाए
DONATE NOW

Share
Loading...

Loading...