प्रगति मैदान दिल्ली में विशाल व्यापारी सम्मलेन को सम्बोधित करते श्री सुरेश चव्हाणके जी

व्यापार भारत की अस्थ्व्यवस्था की रीढ़ है . ये वो मार्ग है जो जन जन को लाभान्वित करता हुआ भारत को हर तरफ से लाभ पहुँचता है यहाँ तक की आखिर में टैक्स के रूप में भी . इसका सदुपयोग और इसमें भारतीयों की ही भागीदारी को बढ़ाने और चीनी आदि वस्तुओं के बहिष्कार के लिए श्री सुरेश चव्हाणके जी ने एक विशाल व्यापरी सम्मेलन को प्रगति मैदान दिल्ली में सम्बोधित किया . 

Share This Post