एक दरगाह, जहां हजारों हिन्दू लड़कियां गयी थी दुआ मांगने, लेकिन वो फिर वापस घर नहीं, कहीं और गईं. जानिए कौन सी है वो दरगाह ?

हिंदुस्तान में यदि कोई मुस्लिम लड़की से प्यार भी करता है तो उसका गला रेत दिया जाता है, वहीँ पाकिस्तान में हिन्दू लड़कियों का खुलेआम धर्मांतरण और बलात्कार करना आम बात है. धर्मांतरण करने वालों को वहाँ के कुछ क्रिकेटरों का भी पूरा साथ मिल रहा है, लेकिन जब वही क्रिकेटर भारत में आते है, तो यहाँ के धर्मनिरपेक्ष लोग उनके लिए लाइन में खड़े हो जाते है, और जोर-जोर से उनका नाम चिल्लाकर अपनी दरियादिली दिखाते है.

धर्मांतरण के लिए प्रसिद्द पाकिस्तान की सिंध प्रांत की भरचंडी शरीफ दरगाह का मियां मिट्ठू अब पाक क्रिकेटर से नेता बने इमरान खान की पार्टी का एक मुख्य सदस्य बन गया है. दरअसल इमरान खान ने उसे अपनी पार्टी से चुनाव लड़ने का मौका दिया है. ये वही मिट्ठू है जिसने हजारों हिन्दू लड़कियों का जबरन धर्मपरिवर्तन कराया है. यहाँ तक कि मिट्ठू का भाई पीर मियां शमां खुलेआम कह चुका है कि उसका मकसद दरगाह से हजारों हिंदू लड़कियों को मुसलमान बनाना है. 

एक खबर के मुताबिक बीते तीन साल में भरचंडी शरीफ दरगाह में 150 से ज्यादा असहाय हिंदू लड़कियों को जबरन मुसलमान बनाया गया है. लड़की को अगवा करने के बाद उसका जबरन निकाह और धर्मपरिवर्तन कराया जाता है, जब तक लड़की के मां-बाप इधर-उधर दौड़ते हैं, गुहार लगाते हैं, थाने में शिकायत करते है, तब तक दरगाह का पीर लड़की को मुसलमान बनाकर उसके निकाह कर लेने का सर्टिफिकेट जारी कर देता है. जानकारी के मुताबिक सिंध में हिंदू लड़कियों को अगवा करने का धंधा इतना बढ़ गया है कि अधिकांश मां-बाप अपनी लड़कियों को घर में ही रखते है. यहाँ तक कि अधिकांश हिन्दू लड़कियों को सेक्स गुलामी के लिए खाड़ी देशों में बेचा जा रहा है.
जब रोहंगिया मुस्लिमों को बचाने कि बात आती है, तो कई देश उनकी वकालत करते नज़र आते है, उन्हें ये मानव अधिकारों का उलंघन दिखता है, लेकिन पाकिस्तान में हिन्दुओं के उपर हो रहे अत्याचारों पर कोई भी देश क्यूँ नहीं बोलता? 

Share This Post

Leave a Reply