जैन मुनि को बलात्कार में फंसाने की साजिश हुई बेनकाब.. लड़की ने खुद खोला राज जिसे जानकर सोचिये कि कितनी गहरी हैं साजिशें

क्या हिन्दू संतों के बाद अब साजिशकर्ताओं का अगला निशाना जैन मुनि हैं तो निश्चित रूप से इसका जवाब हाँ में है क्योंकि प्रख्यात जैन मुनि तरुण नयन सागर अपर एक इंजीनियरिंग की छात्रा के अपहरण का आरोप लगा है. जैन मुनि नयन सागर का एक विडियो सामने आया जिसमें नयन सागर जी एक युवती को बुलाने का इशारा करते करते नजर आ रहे हैं जिसके बारे में जैन मुनि पर यौनाचार का आरोप भी लगाया गया. लेकिन जैन मुनि को बदनाम करने की ये साजिश उस बेनकाब हुई जब वो युवती खुद सामने आयी जिसके अपहरण का आरोप जैन मुनि पर लगा है. जैन मुनि नयन सागर से जुड़े वीडियो मामले में खतौली की युवती ने अपना वीडियो बयान जारी किया है तथा कहा है कि 28 जुलाई को जो वीडियो वायरल हुआ है, वो सब दबाव बना कर कराया गया था, जो कि सब झूठ है तथा कुछ लोगों ने मुझ पर दवाब बनाकर जैन मुनि को बदनाम करने के लिए वो विडियो बनाया तथा जैन मुनि पूरी तरह निर्दोष हैं.

ज्ञात हो कि हरिद्वार के बहादराबाद थाने में 31 जुलाई को एक इंजीनियरिंग कॉलेज की असिस्टेंट टीचर के अपहरण का मुकदमा खतौली निवासी उसके पिता ने दर्ज कराया था, जिसमें जैन मुनि नयन सागर को आरोपी बनाया गया था. तीन अगस्त को बहादराबाद थाने अकेली पहुंची युवती कोर्ट में बयान देकर कहीं चली गई थी. खतौली से परिजन भी उसे ढूंढने हरिद्वार और देहरादून गए थे. वहलना प्रवास में 23 और 24 जून की तारीखों की वीडियो क्लिप में उक्त युवती के होने की पुष्टि स्वयं परिजनों ने भी की थी. सोमवार को अचानक युवती के दो वीडियो क्लिप सामने आए, जिसमें उसने अपनी बात रखी है. इसके बाद युवती थाने भी पहुँची तथा कहा कि ये सब मुझ पर दवाब बनाकर जैन मुनि को बदनाम करने के लिए कराया गया.

आपने विडियो में युवती कहती हैं कि आप सभी को मेरा सादर जय जिनेंद्र, मैं आप सभी से यह कहना चाहती हूं कि जो वीडियो वायरल हुआ है 28 तारीख को, उसमें मैं आपसे यही कहना चाहूंगी कि वो एक दबाव बना कर कराया गया था जो कि सब झूठ है। लेकिन आप लोग कैसे भक्त है और कैसा यह जैन समाज है, जिसने यह बोल दिया कि महाराज ने ऐसा गलत काम किया है, जबकि ऐसा नहीं किया. उपाध्याय नयन सागर महाराज और कृति जैन, इसमें दोनों जो पात्र निभाए गए हैं, वो दोनों निर्दोष है. जो कि दबाव में काम कराया गया है.मैं आप सबसे यह कहना चाहूंगी, जो ये लोग जिन्होंने ये दबाव लेकर ये काम कराया है, वो वीडियो बहुत जल्दी वायरल होगा. महाराज और मैं दोनों ही बिल्कुल निर्दोष हैं.

सोशल मीडिया पर युवती ने जो बयान जारी किया है, उसमें वह जैन मुनि को संबोधित करते हुए कहती है कि जैसे की महाराज ये वीडियो वायरल हुई है, उसका पात्र मुझे और आप को बनाया गया है. ये मुझे बहुत अंत में पता लगा 28 तारीख को. मैं आपसे कहना चाहूंगी महाराज श्री मुझे क्षमा करें. इसके अलावा युवती थाना पहुँची तथा थाना प्रभारी को पूरा सच बताते हुए जैन मुनि नयन सागर को निर्दोष बताया. छात्रा ने पूछताछ में बताया कि वह पिंजौर गार्डन घूमने गई थी न कि महाराज ने उसका अपहरण किया था.


राष्ट्रवादी पत्रकारिता को समर्थन देने हेतु हमे आर्थिक सहयोग करे. DONATE NOW पर क्लिक करे
DONATE NOW

Share